scriptUP Government withdraw Notice to Seize Property of CAA Anti Protestors | CAA प्रोटेस्ट: सुप्रीम कोर्ट का UP सरकार को आदेश- प्रदर्शनकारियों से ज़ब्त संपत्ति लौटाएं | Patrika News

CAA प्रोटेस्ट: सुप्रीम कोर्ट का UP सरकार को आदेश- प्रदर्शनकारियों से ज़ब्त संपत्ति लौटाएं

उत्तर प्रदेश में संशोधित नागरिकता कानून यानी कि सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों से जब्त की गई संपत्ति यूपी में वापस लौटाई जाएगी। दरअसल, यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि उसने दिसंबर 2019 में भेजे गए तोड़फोड़ की भरपाई के लिए नोटिस वापस ले लिया है।

लखनऊ

Updated: February 19, 2022 07:50:05 am

उत्तर प्रदेश में संशोधित नागरिकता कानून यानी कि सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों से जब्त की गई संपत्ति यूपी में वापस लौटाई जाएगी। दरअसल, यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि उसने दिसंबर 2019 में भेजे गए तोड़फोड़ की भरपाई के लिए नोटिस वापस ले लिया है। कोर्ट ने अब तक की गई वसूली को लौटाने (रिफंड) के आदेश दिए हैं। हालांकि, शीर्ष कोर्ट ने यूपी सरकार को नए कानून के तहत कार्रवाई करने की आजादी दी है। कोर्ट ने नए कानून के तहत बने क्लेम ट्रिब्यूनल के आदेश के बाद दोबारा वसूली के आदेश दिए हैं।
UP Government withdraw Notice to Seize Property of CAA Anti Protestors
UP Government withdraw Notice to Seize Property of CAA Anti Protestors
यूपी में 2019 में हुए विरोध प्रदर्शन में सरकारी व निजी संपत्तियों के नुकसान की वसूली के लिए भेजे गए सभी 274 नोटिस और कार्यवाहियों को वापस ले लिया गया है। सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुए इन नुकसान की भरपाई के लिए नोटिस को 13 और 14 फरवरी को वापस लिया गया है।
यह भी पढ़ें

कुशीनगर हादसा: फरिश्ता बनकर आए मुनीब, कुएं में जख्मी हुआ था पैर फिर भी नहीं मानी हार, 10 की बचाई जिंदगी

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा था कारण

पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने 2019 में जारी नोटिस पर सवाल उठाया था। कोर्ट ने कहा था कि यह नोटिस 2009 में आंध्र प्रदेश से जुड़े एक मामले में दिए गए उसके फैसले के मुताबिक नहीं है। संपत्ति को हुए नुकसान की वसूली का मामला क्लेम ट्रिब्यूनल को भेजा जाना चाहिए जिसमें न्यायिक अधिकारी वसूली पर फैसला लें। यूपी सरकार ने कोर्ट को बताया कि उसने 2020 में नया कानून बना कर क्लेम ट्रिब्यूनल गठित किया है। इस पर कोर्ट ने यूपी सरकार से पुराने नोटिस वापस न लेने का कारण पूछा था।
यह भी पढ़ें

अमेठी में इमोशनल प्रचार, रो-रोकर वोट मांग रहीं गायत्री प्रजापति की पत्नी महाराजी देवी

जब्त संपत्ति लौटाने का आदेश

यूपी सरकार के लिए पेश राज्य की एडिशनल एडवोकेट जनरल गरिमा प्रसाद ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि 14 और 15 फरवरी नया आदेश जारी कर सभी पुराने नोटिस वापस ले लिए गए हैं। इन सभी 274 मामलों की फाइल क्लेम ट्रिब्यूनल को भेजी जाएगी। इस बीच याचिकाकर्ता परवेज आरिफ टीटू के लिए पेश वकील नीलोफर खान ने कहा कि दिसंबर 2019 से लेकर अब तक छोटे दुकानदार, रिक्शा चालक जैसे लोग परेशान हैं। उनकी संपत्ति एक ऐसी प्रक्रिया के तहत जब्त की गई है, जो कि अब निरस्त कर दी गई है।
वसूल की गई संपत्ति और धनराशि तुरंत लौटा दी जानी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जिला प्रशासन द्वारा मनमाने तरीके से नोटिस भेजे गए। एक नोटिस छह साल पहले 94 साल की उम्र में दिवंगत हो चुके व्यक्ति को भेजा गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

India-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शवFarmers protest: विरोध कर रहे किसानों से मिलेंगे CM मान, आखिर क्यों धरने पर बैठे किसान?जब कांस के दौरान खो गई दीपिका पादुकोण की ड्रेस तो आखिरी समय में किया गया ये बदलावबेटा IPL 2022 में ढा रहा कहर, मां इस बात से अनजान, भारतीय क्रिकेटर ने किया चौंकाने वाला खुलासा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.