योगी सरकार ने महिलाओं को दिया तोहफा, अब यूपी में चलेंगी पिंक बसें

योगी सरकार ने महिलाओं को दिया तोहफा, अब यूपी में चलेंगी पिंक बसें

Akansha Singh | Publish: Aug, 13 2018 08:25:04 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

परिवहन निगम महिलाओं के लिए 50 पिंक स्पेशल बसें चलाने जा रहा है।

लखनऊ. परिवहन निगम महिलाओं के लिए 50 पिंक स्पेशल बसें चलाने जा रहा है। यह बसें सिर्फ महिलाओं के लिए ही होंगी। इन बसों का संचालन भी महिलाओं द्वारा किया जाएगा। इन बसों की पूरी की पूरी कमान महिलाओं के हाथ में होगी। प्रदेश में महिला सशक्तिकरण, महिलाओं को सुरक्षा को देखते हुए प्रदेश सरकार ने यह कदम उठाया है। दिल्ली में हुए निर्भया कांड के बाद महिलाओं को सुरक्षित बस यात्रा मुहैया कराने के मकसद से यूपी परिवहन निगम ने तैयारी शुरू कर दी है।


पिंक बसों के लिए निगम प्रशासन संविदा पर महिला चालकों की भर्ती करेगा। इसके लिए लखनऊ समेत प्रदेश के आठ शहरों में भर्ती प्रक्रिया को एमडी ने मंजूरी दे दी है। भर्ती के संबंध में प्रधान प्रबंधक की ओर से जारी सरकुलर में अंतिम तारीख तय नहीं की है लेकिन यह माना जा रहा है कि 50 महिलाओं की भर्ती का आवेदन पूरा होने के बाद भर्ती प्रक्रिया बंद कर दी जाएगी।

खरीदी जाएंगी 50 बसें
पिंक बसों के संचालन के लिए महिला एवं बाल कल्याण विभाग की ओर से 50 बसें खरीदने के लिए 22.5 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। इस मामले में परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी गुरु प्रसाद द्वारा यह जानकारी दी गई कि बसें खरीदने के पहले तैयारी को लेकर कई आदेश दिए गए हैं। इसमें सबसे पहले महिला चालकों की भर्ती होगी।

महिलाओं को होगी तैनाती

महिला के लिए चलाई गई इन पिंक स्पेशल बसों में महिला यात्रियों की सुरक्षा 'आदिशक्ति' महिलाओं के हाथों में ही होगा। बता दें कि महिला यात्री की सुरक्षा के लिए निगम प्रशासन ने आदिशक्ति नाम तय किया है। 'आदिशक्ति' के नाम से ही संविदा पर भर्ती भी की जाएगी। प्रदेश भर में तीन सौ महिलाओं को भर्ती की जाएगी। बस में लगे पैनिक बटन दबाते ही आदिशक्ति की टीम महिला सुरक्षा के लिए मौके पर पहुंच जाएगी।

इन शहरों में होगा संचालन

इन स्पेशल बसों का संचालन प्रदेश के आठ शहरों से होगा। इनमें लखनऊ से आठ, गाजियाबाद से दस, बरेली से छह, गोरखपुर से चार, वाराणसी से चार, इलाहाबाद से चार, आगरा से दस व बरेली से छह बसें संचालित होंगी।

ऐसे होगी भर्ती
इसमें भर्ती की न्यूनतम 21 व अधिकतम 40 वर्ष है। परिवहन निगम के प्रधान प्रबंधक साद सईद ने जानकारी दी कि इसमें हाईस्कूल पास महिलाएं ड्राइवर बन सकेंगी। प्रदेश के जिन आठ शहरों में बसों का संचालन होगा उन सभी शहरों से संबंधी प्रार्थना पत्र स्वीकार किए जाएंगे। आवेदन की अंतिम तारीख नहीं होगी। महिला को भारी वाहन चलाने दो वर्ष का अनुभव हो। लम्बाई पांच फिट तीन इंच से कम न हो। जिन महिला चालकों को बस चलाने की क्षमता नहीं है उन्हें निगम प्रशासन कानपुर द्वारा ड्राइविंग प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned