योगी के इस मंत्री ने मुलायम पर दिया बड़ा बयान, कहा- आजम सपा के जमीनी नेता, नेताजी का उन्हें बचाना...

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के सख्त तेवर और आंदोलन की चेतावनी से भाजपा खेमे में हड़कंप मच गया है।

By: Abhishek Gupta

Updated: 05 Sep 2019, 04:31 PM IST

लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के सख्त तेवर और आंदोलन की चेतावनी से भाजपा खेमे में हड़कंप मच गया है। हालांकि जमीनी स्तर पर आंदोलन को लेकर कोई खास असर देखने को नहीं मिल रहा है, लेकिन भाजपा के कई दिग्गजों में खलबली मचती दिख रही है। बुधवार को ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) ने जहां अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) व आजम खां पर हमला किया, वहीं गुरुवार को यूपी के मंत्री ने मुलायम सिंह यादव का आजम खां का बचाव करने को जायज ठहराया है।

ये भी पढ़ें- सीएम योगी ने यूपी के शिक्षकों के लिए किया बड़ा ऐलान, 75 जिलों के लिए कहा यह

नेता जी का आजम का बचाव करना स्वभाविक-
स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह (Jay Pratap Singh) ने मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) द्वारा आजम खां (Azam Khan) का बचाव करने को सही ठहराया। वे सीतापुर (Sitapur) के गोंदलामऊ सीएचसी (CHC) के निरीक्षण पर आए थे जहां उन्होंने कहा कि आजम खां (Azam Khan) समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के जमीनी नेता हैं और मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) के साथ एक पार्टी में हैं। ऐसे में नेता जी का आजम (Azam) का बचाव करना स्वभाविक है। आजम खां (Azam Khan) मुलायम सिंह के खास भी हैं। उनका आजम को बचाव करना अपनी जगह ठीक भी है।

ये भी पढ़ें- मुलायम के ऐलान के बाद भाजपा से एक के बाद एक आए बड़े बयान, डिप्टी सीएम ने भी कहा यह

mulayam.jpg

सरकारी कागज के हिसाब से ही मुकदमा हुआ दर्ज-
वहीं अपने बयान में स्वास्थ्य मंत्री ने आजम खां के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का तर्क भी दिया है। उन्होंने कहा कि सपा संरक्षक पार्टी में जैसे चाहे वैसे आजम का बचाव कर सकते हैं, लेकिन आजम खां (Azam Khan) के खिलाफ सरकारी कागज के हिसाब से ही मुकदमा दर्ज किया गया है। वे कागज हमने भी देखें है उनसे ये साफ पता चलता है कि आजम खां (Azam Khan) ने जमीन के कई घोटाले किए हैं। आजम ने सरकारी जमीन (Goverment polt) को विश्वविद्यायल (University) के अंदर डाल दिया है और अपने निजी प्रयोग में भी लाएं हैं। ऐसे में जो भी मुकदमा दायर किया गया है वह सबूत के अधार के पर ही दायर किया गया है। वहां के एसडीएम (SDM) और रेवन्यू ने दस्तावेज निकाल कर दिए हैं।

BJP
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned