सबसे पहले: यूपी नगर निकाय चुनाव का हुआ शंखनाद, तीन चरणों में होगी वोटिंग

सबसे पहले: यूपी नगर निकाय चुनाव का हुआ शंखनाद, तीन चरणों में होगी वोटिंग
UP Municipal Corporation elections

Shatrudhan Gupta | Publish: Oct, 27 2017 04:23:37 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

राज्य निर्वाचन आयोग के कमिश्नर एसके अग्रवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फेंस में बताया कि प्रदेश में तीन चरणों में वोटिंग होगी।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव का शंखनाद हो गया। शुक्रवार को राज्य निर्वाचन आयोग ने निकाय चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी। प्रदेश में निकाय चुनाव तीन चरणों में होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग के कमिश्नर एसके अग्रवाल ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फेंस में बताया कि प्रदेश में तीन चरणों में वोटिंग होगी। पहले चरण का मतदान 22 नवंबर को होगा, जबकि दूसरे चरण की वोटिंग 26 नवंबर को होगी। वही, तीसरे और अंतिम चरण का मतदान 29 नवंबर को होगा। अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश की 16 नगर निगमों में ईवीएम से मतदान होगा, जबकि अन्य जगहों पर बैलेट पेपर से वोटिंग होगी। प्रत्याशियों की खर्च सीमा दो लाख रुपए होगी। राज्य निर्वाचन कमिश्नर ने बताया कि वोटिंग सुबह साढ़े सात बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक चलेगी। आदर्श आचार संहिता आज से होगी लागू हो गई है, जो 31 दिसंबर तक लागू रहेगा।

एसके अग्रवाल ने बबताया कि निकाय चुनाव की सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि चुनाव को लेकर प्रदेश के पुलिस अधिकारियों के साथ भी कई दौर की बैठक हो चुकी है। को-ऑर्डिनेशन में भी किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

आयोग में कुल 18८ पार्टियां हैं रजिस्टर्ड

यूपी नगरीय निकाय चुनावों में उतरने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग में कुल 18 रजिस्टर्ड पार्टी हैं, जिनमें इस बार आम आदमी पार्टी , सपा और बसपा ने भी अपने सिम्बल पर चुनाव लडऩे का निणर्य लिया है। मालूम हो कि इससे पहले सपा, बसपा अपने सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ते थे, बल्कि उनके समर्थित उम्मीदवार चुनाव मैदान में ताल ठोकते थे।

इस बार 25.97 लाख युवा वोटर बढ़े

पिछले चुनाव की तुलना में इस बार युवा मतदाताओं की संख्या में 25.97 लाख की बढ़ोतरी हुई है। मालूम हो कि उत्तर प्र्रदेश के 653 नगर निकायों (16 नगर निगम, 199 नगर पालिका परिषद और 438 नगर पंचायत) में पिछले चुनावों की तुलना में इस बार तकरीबन 25.97 लाख युवा वोटर बढ़े हैं। खास बात यह है कि कुल मतदाताओं में 18 वर्ष से 35 वर्ष तक के युवा मतदाताओं की अकेले हिस्सेदारी 43.72 प्रतिशत है। वहीं, 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या घटी है। आंकड़ों के मुताबिक 2012 में ऐसे मतदाताओं की हिस्सेदारी 14.05 फीसदी थी, जो इस बार घटकर 11.17 प्रतिशत रह गई है। मालूम हो कि इस बार के नगर निकाय चुनाव में 3,32,48,032 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंग। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 17,781,568 है, जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 15,46,66,464 है। इसके अलावा 35 वर्ष तक के 1,45,37,548 मतदाता चुनाव में हिस्सा लेंगे, जबकि 35 से 60 तक के 1,49,97,541 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। वहीं, 60 वर्ष से ज्यादा के 37,12,943 मतदाता हिस्सा लेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned