महाराष्ट्र और गुजरात में दलित आंदोलन के चलते यूपी में अलर्ट

उत्तर प्रदेश में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए हाई अलर्ट जारी।

By: Dhirendra Singh

Published: 04 Jan 2018, 05:28 PM IST

लखनऊ. महाराष्ट्र और गुजरात दोनों राज्यों में दलित आंदोलन दो दिन से थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके चलते आंदोलन हिंसा के तरफ बढ़ता दिखा रहा है, जिससे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। यूपी के कार्यवाहक डीजीपी और एडीजी कानून व व्यवस्था आनंद कुमार ने सतर्कता बरतते हुए सभी जिलों के आला अधिकारियों और कप्तानों को सुरक्षा और शांति व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें - दास्तान-ए-दर्द: मां का इलाज कराना चाहती थी लड़की, पैसों के लिए सैक्स रैकेट में फंसी, फिर आरोपी रोज भेड़ियों के सामने...

सोशल मीडिया पर भी नज़र
यूपी में अलर्ट जारी करने के साथ एडीजी कानून व व्यवस्था आनंद कुमार ने ने जातिगत संगठनों पर नज़र रखने के लिए कहा है। वहीं सोशल मीडिया पर गलत संदेश व भावनाएं आहत करने वाले लोगों पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश हैं। साथ ही माहौल बिगाड़ने वालों से सख्ती से निपटने के लिए कहा गया है। उन्होंने प्रदेश के सभी के कप्तानों को अपने-अपने जिले में सर्तकता बरतने के लिए कहा है। वहीं अन्य प्रदेश की सीमा से मिलने वाले जिलों के कप्तानों से एडीजी खुद सीधा संपर्क में हैं।

भीमा-कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर भड़की हिंसा
जानकारी हो कि भीमा-कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह के दौरान भड़की हिंसा की चिंगारी महाराष्ट्र से होते हुए गुजरात जा पहुंची है। जहां यहां दलित समुदाय के लोगों ने गुस्से में चाणस्मा हाईवे पर भारी विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया। साथ ही उन्होंने 5 जनवरी को पाटण बंद का ऐलान भी किया है।
उधर महाराष्ट्र के ठाणे में दलित युथ पैंथर के कार्यकर्ताओं ने रेल रोको आंदोलन शुरु कर दिया। हालांकि की पुलिस मौके पर पहुंच कर पांच कार्यकर्ताओं को हिरासत ले लिया। वहीं महाराष्ट्र के साथ ही गुजरात में भी कई जगह बस जलाने, धरना प्रदर्शन जैसी घटनाएं देखने को मिली।

Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned