यूपी में 5 जिलों के पुलिस कप्तान छोड़ना चाहते हैं अपना पद, अफसरों को लिखी चिट्ठी

मंथन में जुटा गृह विभाग, जल्द ही कई जिलों में हो सकते हैं तबादले

By: Hariom Dwivedi

Published: 10 Jun 2021, 05:22 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पांच जिलों के पुलिस अधीक्षकों (एसपी) ने खुद को अपने पद से हटाये जाने के लिए वरिष्ठ अफसरों को पत्र लिखा है, इनमें बुंदेलखंड जिले की एक महिला कप्तान का भी नाम है। इसके अलावा दो कैबिनेट मंत्रियों वाले जिलों के पुलिस कप्तान भी बीते 8 दिनों से छुट्टी पर चल रहे हैं। इटावा सहित कुछ और जिलों में भी जाने से अफसर कतराते हैं। पुलिस विभाग के सूत्रों के मुताबिक, ब्यूरोक्रेट्स के तनाव का कारण बढ़ता सियासी दखल है। जिला पंचायत चुनाव को देखते हुए सत्तारूढ़ दल के अलावा विपक्षी पार्टियां अफसरों पर अधिक दबाव बना रही हैं।

बीते दिनों लखनऊ बीजेपी आलाकमान की बैठक में भी कई मंत्रियों, सांसदों, विधायकों ने जिलों के अफसरों की शिकायत की थी। वहीं, अब अलग-अलग जिलों से अफसरों की भी शिकायतों की बात सामने आ रही है। गृह विभाग इन सब पर मंथन कर रहा है। माना जा रहा कि जल्द ही कुछ जिलों के एसपी और डीएम के तबादले किये जाएंगे। इनमें वे जिले भी शामिल हैं, जिन्होंने अन्य जिले में तैनाती की इच्छा जताई है।

क्या बोले पूर्व अफसर
यूपी के पूर्व आईपीएस व जबरन सेवानिवृत्त पर भेजे गये अमिताभ ठाकुर का कहना है कि सत्ता पक्ष के नेता हों या विपक्ष के। अफसरों पर इस तरीके का दबाव बनाकर काम कराना गलत। उन्होंने कहा कि ज्यादातर तो सत्तारूढ़ पार्टी के नेता दबाव बनाते हैं, क्योंकि चुनाव हारने से उनकी जनता में छवि खराब होती है। वहीं, प्रदेश के पूर्व डीजीपी अरविंद कुमार जैन का कहना है कि अफसरों को किसी भी तरीके का दबाव नहीं लेना चाहिए। अगर वह इस तनाव में आकर पद छोड़ने की इच्छा जता रहे हैं तो उनकी ही नाकामी है। उन्हें सिर्फ कानून-व्यवस्था पर फोकस करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : जाते-जाते योगी की तारीफ कर गए BJP के संगठन महामंत्री, सत्ता-संगठन के साथ ब्यूरोक्रेसी में भी बदलाव के संकेत

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned