UP Police Mitra campaign 2021: करोना काल में देहदान,नेत्रदान मुहिम

(UP Police Mitra campaign) 18 साल की होने पर करेगी देहदान

By: Ritesh Singh

Updated: 11 Jun 2021, 05:01 PM IST

लखनऊ , (UP Police Mitra campaign) ऐसे समय में जब समाज करोना बीमारी से परेशान है। प्रयागराज पुलिस ने रक्तदान और देहदान का अभियान चलाकर एक अनूठी मसाल पेश है। (UP Police Mitra campaign) रक्तदान के लिए सार्थक प्रयास करने की वजह से देश भर में विख्यात पुलिस मित्र समूह अब नेत्र दान और देह दान की दिशा में भी आगे बढ़ रहा है। (UP Police Mitra campaign) आईजी प्रयागराज केपी सिंह ने खुद इस अभियान के लिए पहल करते हुए लोगों से जुड़ने की अपील की है और उन्हें इसको लेकर जनता का सहयोग भी मिल रहा है।

(UP Police Mitra campaign) ट्विटर, व्हाट्सएप, फेसबुक

प्रयागराज कार्यालय में तैनात सिपाही आशीष मिश्रा ने पुलिस मित्र समूह बनाकर यह साबित किया कि पुलिसवालों में इंसानियत है और लोगों की सुरक्षा के लिए रात-दिन मेहनत ही नहीं जीवन बचाने के लिए अपना रक्त भी दान कर सकेत हैं। ट्विटर, व्हाट्सएप, फेसबुक और वेबसाइट के जरिए। देश भर के लोगों के बीच पहुंच चुके पुलिस मित्र समूह के आह्वान पर जरूरतमंद लोगों की जीवन रक्षा के लिए अक्सर सिपाही से लेकर अधिकारी तक रक्तदान करते हैं। कई बार अपना रक्त दे चुके आइजी रेंज केपी सिंह ने अब समाज सेवा की दिशा में एक कदम और बढ़ा दिया है।

(UP Police Mitra campaign) यूपी पुलिस मित्र समूह की पहल

आइजी केपी सिंह ने अपने आधिकारिक ट्ववीटर हैंडल से ट्वीट किया कि यूपी पुलिस मित्र समूह अब रक्तदान के साथ नेत्रदान और देह दान की मुहिम शुरू करना चाहता है। उन्होंने इस अभियान के लिए लोगों के सुझाव की अपेक्षा की। उनकी इस पहल को समर्थन मिल रहा है। सुधांशु द्विवेदी ने लिखा कि सर मैं देश का जवान हूं और हर तरीके से अपने शरीर का दान करना चाहता हूं। माही ने रिप्लाई किया कि जब मैं भी 18 साल की हो जाऊंगी तो मैं भी अपने पापा और मां के साथ रक्तदान करूंगी तथा नेत्रदान और देहदान भी करूंगी सर। आप देश के पहले पुलिस अधिकारी हैं।

(UP Police Mitra campaign) 18 साल की होने पर करेगी देहदान

जो पुलिस में रहकर इस मुहिम की शुरूआत कर रहे हैं। पुलिस मित्र समूह को स्थापित करने वाले सिपाही आशीष ने लिखा कि अब रक्तदान के साथ नेत्रदान और देहदान भी। एक ट्वीटर यूजर जीतेंद्र सिंह ने रिप्लाई किया कि मैंने तो पत्नी सहित मुत्युपरांत देहदान की शपथ पहले ही ले रखी है। आपकी इस मुहिम में सहयोग के लिए सबसे आगे हूं। रक्तवीर दिदीश ने भी पहल की सराहना की। इसी बीच एक सिपाही की बेटी माही ने ट्वीट किया कि वह जब 18 साल की हो जाएगी तो वह भी नेत्र व देहदान करेगी।

Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned