सुरक्षित होंगी महिलाएं, हिफाजत करेगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

लखनऊ समेत यूपी के 17 जिलों में सेफ सिटी परियोजना के तहत लगेंगे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस युक्त अत्याधुनिक कैमरे।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. यूपी में अब महिलाओं की सुरक्षा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) की मदद से होगी। एआई चप्पे-चप्पे पर उनकी निगहबानी करेगा। उनके साथ किसी तरह की छेड़खानी या राह चलते कोई अपराध होता है तो एआई तुरंत कंट्रोल रूम को सूचित करेगा। और समय रहते पुलिस मौके पर पहुंचकर उन्हें बचाएगी ओर अपराधियों व शोहदों को सबक सिखाएगी। सेफ सिटी परियोजना के तहत राजधानी लखनऊ समेत यूपी के 17 शहरों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक से लैस अत्याधुनिक कैमरे लगाए जाएंगे।


राजधानी में ये कैमरे शहर के प्रमुख स्थानों जैसे हजरतगंज, आईजीपी, परिवर्तन चौक, 1090 और सुनसान सड़कों पर लगाए जाएंगे ताकि वहां महिलाओं की निगहबानी की जा सके। ये कैमरे 24 घंटे चलेंगे और महिला को मुसीबत में देखकर तत्काल कंट्रोल रूम को सिग्नल भेजेंगे वहां सायरल बजते ही कैमरे के जरिये लोकेशन ट्रेस कर सबसे नजदीक पुलिस पेट्रोलिंग (पीआरवी) पहुंचेगी।


एआई से लैस कैमरे लगाने के लिये कमिश्नर की ओर से मंजूरी मिल चुकी है जल्द ही एआई साॅफटवेयर लागू करने वली एजेंसी चयनित की जाएगी। लखनऊ के अलावा 17 जिलों में सेफ सिटी के तहत ये कैमरे लगाए जाएंगे। इसकी जिम्मेदारी वहां के मंडलायुक्तों को दी गई थी।


ऐसे काम करेगा ऑर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कैमरा

किसी महिला के साथ छेड़खानी या अपराध होने पर एआई तकनीक से लैस कैमरा पहचान करेगा कि पीड़ित कोई महिला है। वहां से सायरन कंट्रोल रूम तक पहुंचते ही वहां से उसे जूम किया जाएगा। अगर महिला परेशान या मुसीबत में होगी तो एआई इसे पहचान लेगा। महिलाओं को कुछ खास इशारे भी बताए जाएंगे। मुसीबत के वक्त इन इशारों का इस्तेमाल कर महिलाएं मदद मांग सकेंगी।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned