Rajya Sabha Election 2016 : क्राॅस वोटिंग के बाद भी नहीं हिला मुलायम का किला

Rajya Sabha Election 2016 : क्राॅस वोटिंग के बाद भी नहीं हिला मुलायम का किला
Vidhan Sabha

उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की 11 सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान में क्राॅस वोटिंग और नोक झोंक के बीच हुए मतदान के बाद सभी राजनीतिक दलों के 11 अधिकृत प्रत्याशी निर्वाचित घोषित हुए।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की 11 सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान में क्राॅस वोटिंग और नोक झोंक के बीच हुए मतदान के बाद सभी राजनीतिक दलों के 11 अधिकृत प्रत्याशी निर्वाचित घोषित हुए। भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार प्रीति महापात्रा चुनाव हार गईं। महापात्रा के चुनाव मैदान में कूद जाने की वजह से ही मतदान कराना जरूरी हो गया था। कांग्रेस के कपिल सिब्बल ने कडे़ मुकाबले में महापात्रा को पराजित किया। सिब्बल को प्रथम वरीयता के 25 और प्रीति महापात्रा को 18 मत मिले।

सपा के सभी सात प्रत्याशी जीते
शुक्रवार को विधान परिषद चुनाव के बाद ये लग रहा था कि यदि ऐसे ही क्राॅस वोटिंग हुई तो राज्यसभा के चुनाव में सपा का प्रत्याशी फंस सकता है। लेकिन चुनाव में सपा के सभी सात पूर्व केन्द्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा, अमर सिंह, विशम्भर निषाद, संजय सेठ, विधानपरिषद के पूर्व सभापति सुखराम सिंह यादव, सुरेन्द्र नागर और रेवती रमण सिंह निर्वाचित घोषित किए गए हैं।


बसपा के दो प्रत्याशी जीते
बसपा के दोनो प्रत्याशी सतीश चन्द्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ भी चुनाव जीत गए हैं। इसके अलावा कांग्रेस के कपिल सिब्बल और भाजपा के शिवप्रताप शुक्ल निर्वाचित घोषित किए गए। बसपा के पक्ष में एक क्रास वोटिंग हुई है।

बसपा के मिश्रा को मिले सर्वाधिक वोट
सर्वाधिक वोट बसपा के मिश्रा को मिले हैं। उन्हे 42 मतदाताओं का समर्थन हासिल हुआ। 
लोकसभा के पांच बार सदस्य रह चुके बेनी प्रसाद वर्मा पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए हैं। जबकि सतीश मिश्र तीसरी बार राज्यसभा के सदस्य बन गए। 


ये लोग पहली बार संसद पहुंचे
संसद के उच्च सदन में उत्तर प्रदेश से पहली बार चुने गए सदस्यों में संजय सेठ, सुखराम सिंह यादव, सुरेन्द्र नागर, रेवतीरमण सिंह, अशोक सिद्धार्थ और शिव प्रताप शुक्ल शामिल हैं।


प्रथम वरीयता में किसको कितने मत मिले
मतगणना के नतीजों के मुताबिक प्रथम वरीयता में बेनी वर्मा को 39, विशम्भर निषाद को 34, अमर सिंह को 35, संजय सेठ को 35, रेवतीरमण सिंह को 23, सुखराम सिंह यादव को 35, सुरेन्द्र नागर को 35, अशोक सिद्धार्थ को 39, कपिल सिब्बल को 25, शिव प्रताप शुक्ल को 36 और प्रीति महापात्रा को प्रथम वरीयता के 18 मत हासिल हुए। सिब्बल को कुल 34 मत मिले हैं। उन्हें नौ मत द्वितीय वरीयता के हासिल हुए।

राज्य सभा चुनाव में भी क्रॉस वोटिंग, सपा विधायकों से झड़प
विधान परिषद में क्राॅस वोटिंग के बाद आज राज्यसभा चुनाव में स्थिति बदतर हो गई है और मंत्री पवन पाण्डेय की विधायकों से भिड़ंत हो गई है। जबकि विधायकों का आरोप है कि उनको जान से मारने की धमकी दी जा रही है। राज्य सभा चुनाव के दौरान लखनऊ के विधान भवन के तिलक हाल में जमकर बवाल हुआ है। समाजवादी पार्टी के विधायक भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित और उनके भाई मुकेश शर्मा का वोट भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में डाला गया। जिसके बाद सत्ता पक्ष तथा भाजपा में जमकर झड़प हुई। इतना ही नहीं मंत्री तेज नारायण पाण्डेय उर्फ पवन पाण्डेय तो गुड्डू पंडित तथा उनके भाई मुकेश शर्मा से भिड़ गये। गुड्डू पंडित बुलंदशहर के शिकारपुर तथा मुकेश शर्मा इसी जिले के डिबाई से समाजवादी पार्टी के विधायक हैं।

चुनाव में धांधली का आरोप
इस बीच भारतीय जनता पार्टी की विधायक संगीता बाथम और कृष्णा पासवान विधायक ने राज्य सभा चुनाव में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, शिवपाल यादव और प्रमुख सचिव पर जमकर धांधली कराने का आरोप लगाया। सपा के बागी विधायक गुड्डू पंडित ने बताया कि प्रदेश सरकार के मंत्री उनको वोट देने से रोकने में लगे हैं। लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

भाजपा प्रत्याशी ने सपा के पक्ष में डाला वोट
इनके अलावा भारतीय जनता पार्टी के विधायक विजय बहादुर ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया है। समाजवादी पार्टी के साथ ही भाजपा के विधायक एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। कुछ महिला विधायकों ने भी समाजवादी पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायकों की तीखी झड़प मीडिया कैमरों में कैद हो गई है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned