अब ऐसे होगा शिक्षामित्रों और अनुदेशकों के आधार का वैरिफिकेशन, फर्जीवाड़ा पकड़ने के लिए विभाग ने निकाला ये तरीका

(UP Shiksha Mitra Anudeshak Aadhar Verification) शिक्षामित्रों और अनुदेशकों के आधार वैरिफिकेशन को लेकर अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने आदेश जारी कर दिया है।

लखनऊ. (UP Shiksha Mitra Anudeshak Aadhar Verification) उत्तर प्रदेश के परिषदीय स्कूलों में तैनात शिक्षामित्रों और अनुदेशकों का आधार सत्यापन अब ब्लॉक संसाधन केन्द्रों (बीआरसी) पर होगा। इसके लिए खण्ड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) रोस्टर बना कर ज्यादा से ज्यादा 10 लोगों को एक साथ बुलाएंगे। साथ ही इनके सभी प्रमाणपत्रों का सत्यापन संबंधित बोर्ड या विश्वविद्यालय को प्रमाणपत्र भेजकर या ऑनलाइन किया जाएगा। इस बारे में अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने आदेश जारी कर दिया है।


आधार अपडेशन किट रहेगी मौजूद

प्रदेश में लगभग 1.55 लाख शिक्षामित्र और 30 हजार अनुदेशक हैं। आदेश के मुताबिक बीआरसी पर इनरोलमेंट और आधार अपडेशन किट मौजूद रहेगी। इसी के जरिये ही आधार का वैरिफिकेशन किया जाए। हर बीआरसी पर दो किट उपलब्ध कराई गई हैं। वहीं अभी तक केजीबीवी में ओटीपी के माध्यम से आधार का वैरिफिकेशन किया जा रहा है। लेकिन उसमें कई तरह की दिक्कतें सामने आ रही हैं। जैसे कुछ अध्यापकों के नंबर बदल गए हैं तो कुछ के पास ओटीपी ही नहीं आ पा रहा है। जबकि अब इस किट के माध्यम से तुरंत वैरिफिकेशन हो जाएगा।


तेज हुई फर्जीवाड़े की जांच

वहीं दूसरी तरफ सभी प्रमाणपत्रों के वैरिफिकेशन में स्टेशनरी या डाक पर आने वाला खर्च समग्र शिक्षा अभियान के तहत किया जाएगा। आपको बता दें कि केजीबीवी में अनामिका शुक्ला फर्जी टीचर केस के बाद ऐसे सभी शिक्षकों की पकड़ के लिए विभाग ने जांच में तेजी की है और कई तरीकों से फर्जी शिक्षकों की पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़ें: सावन महीने में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन की तैयारी, महंत नृत्य गोपाल दास ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

Show More
नितिन श्रीवास्तव Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned