Investor Summit : यूपी बनेगा मेट्रो रेल प्रोडक्शन का हब

Investor Summit : यूपी बनेगा मेट्रो रेल प्रोडक्शन का हब

Dikshant Sharma | Publish: Feb, 15 2018 06:28:06 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रदेश सरकार चाहेगी कि अधिक से अधिक प्राइवेट ग्रुप मेट्रो निर्माण में दिलचस्पी दिखाएं।

दीक्षांत शर्मा

लखनऊ. आने वाले समय में उत्तर प्रदेश मेट्रो ट्रेन से जुड़े सभी उपकरणों का हब कहलाएगा। इससे रोज़गार के साथ प्रदेश में आने वाले मेट्रो प्रोजेक्ट पूरी तरह मेड इन इंडिया होंगे। इस दिशा में लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन (जल्द ही उत्तर प्रदेश मेट्रो कारपोरेशन) ने अपनी कमर कस ली है। 21 और 22 फरवरी को होने वाले इन्वेस्टर समिट में इसका खाका खींचा जा सकता है।

कई हजार करोड़ के निवेश की उम्मीद
लखनऊ मेट्रो ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। देश विदेश से समिट में आने वाले निवेशकों को एलएमआरसी प्रदेश में आने वाले मेट्रो परियोजना के साथ ही लखनऊ मेट्रो में इस्तेमाल हुए तकनीकें बताएगा। मकसद हो ये दिखाना कि प्रदेश में आने वाले मेट्रो प्रोजेक्ट्स में निवेशक अपना कारोबार तलाश सकते हैं जबकि इससे प्रदेश वासियों को रोज़गार और मेट्रो की लेटेस्ट तकनीक मिल सकती है। साथ ही लगभग कई हजार करोड़ का निवेश यूपी में हो सकता है।

 

lucknow metro
lucknow metro IMAGE CREDIT: Patrika News

यूपी में सबसे अधिक मेट्रो प्रोजेक्ट
दरअसल मौजूदा समय में उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक मेट्रो परियोजनाएं चल रही हैं। लखनऊ मेट्रो के अलावा कानपुर मेट्रो, गोरखपुर मेट्रो और आगरा मेट्रो का डीपीआर फाइनल करने की प्रक्रिया चल रही है।कुछ सालों में जमीनी तौर पर यह कार्य शुरू हो जाएंगे।

इन कामों में निवेश के अवसर
मेट्रो कोच निर्माण, मेट्रो स्टेशन के सिविल वर्क, ट्रैक निर्माण, टेक्निकल वर्क, सिग्नलिंग आदि में निवेशक अवसर तलाश सकते हैं। फिलहाल मेट्रो परियोजना में मूल रूप से यूपी में कुछ ख़ास मैन्युफैक्चरिंग नहीं हो रही है। लखनऊ मेट्रो के डिब्बे चेन्नई के पार श्री सिटी में बनाए जा रहे हैं। वहीँ कई चीज़ें अब भी विदेश से मंगवाई जा रही है। इसमें मेट्रो ट्रैक जापान से तो एस्कलेटर चीन से मंगवाए गए हैं। इसके आलावा विदेश में मेट्रो का निर्माण करा चुकी कंपनियां वहां के लेटेस्ट तकनीकों को भारत ला सकते हैं।

समिट में मेट्रो का होगा स्टाल
लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन इन्वेस्टर समिट के दौरान स्पेशल स्टॉल लगवा रहा है। जानकारों की माने तो नई मेट्रो पॉलिसी से भी निवेशकों को फायदा होगा। नई मेट्रो पॉलिसी में प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप में सबसे अधिक फोकस किया गया है। ऐसे में प्रदेश सरकार भी चाहेगी कि अधिक से अधिक प्राइवेट ग्रुप मेट्रो निर्माण में दिलचस्पी दिखाएं।

लखनऊ मेट्रो के एमडी कुमार केशव ने कहा कि इन्वेस्टर समिट में एलएमआरसी प्रदर्शनी लगाएगा। हम तकनीकों के साथ संभावनाएं निवेशकों के सामने रखेंगे। उम्मीद है इसके ज़रिये प्रदेश में मेट्रो रेल प्रोडक्शन की संभावनाएं बढ़ेंगी। ख़ास बात ये है कि मेट्रो पालिसी के आधार पर विदेशी कंपनियों को भी निवेश के लिए इंडियन पार्टनर तलाशना होगा।

Ad Block is Banned