scriptUP Top News Uttar Pradesh | Quick Read: रेलकर्मियों को 90 दिन के आधार पर अनुकंपा की नौकरी | Patrika News

Quick Read: रेलकर्मियों को 90 दिन के आधार पर अनुकंपा की नौकरी

रेल कर्मचारियों के आश्रितों (पत्नी और बच्चे आदि) को अनुकंपा के आधार पर नौकरी पाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। उन्हें न विभाग का चक्कर लगाना पड़ेगा और न ही इंतजार करना होगा। निर्धारित समय 90 दिन के अंदर नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

लखनऊ

Updated: January 17, 2022 04:56:19 pm

रेलकर्मियों को 90 दिन के आधार पर अनुकंपा की नौकरी

गोरखपुर. रेल कर्मचारियों के आश्रितों (पत्नी और बच्चे आदि) को अनुकंपा के आधार पर नौकरी पाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। उन्हें न विभाग का चक्कर लगाना पड़ेगा और न ही इंतजार करना होगा। निर्धारित समय 90 दिन के अंदर नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। वर्ष 2021-22 में 268 आश्रितों को नौकरी दी गई है। जिसमें लखनऊ मंडल के कोविड संक्रमण से मृत 22 रेलकर्मियों के आश्रित भी शामिल हैं। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार अनुकंपा के आधार पर नौकरी में राहत के लिए लखनऊ मंडल ने सहयोग ऐप विकसित किया है। सहयोग ऐप से रेलकर्मियों के आश्रितों को सहयोग मिलने लगा है। उन्हें विभाग का चक्कर नहीं लगाना पड़ रहा। घर बैठे उन्हें समापक भुगतान और अनुकंपा से संबंधित सारी अपडेट जानकारी मिल जा रही।
UP Top News Uttar Pradesh
UP Top News Uttar Pradesh
स्कूटी सवार पर जानलेवा हमला

गोरखपुर. गोरखपुर जिले के तिवारीपुर इलाके के नरसिंहपुर मोहल्ले में अज्ञात हमलावरों ने स्कूटी सवार अनिल पर लाठी-डंडों से हमला कर घायल कर दिया। साथ ही बीच बचाव कर रहे दो अन्य लोगों को भी मारकर घायल कर दिया। दरअसल, तिवारीपुर इलाके के निजामपुर निवासी अनिल कुमार गुप्ता नरसिंहपुर में किसी काम से गए थे। रात में वह अपनी स्कूटी से घर जा रहे थे। तभी 15 से 20 की संख्या में हमलावरों ने उन पर लाठी-डंडों से ताबड़तोड़ हमला कर उन्हें बुरी तरीके से घायल कर दिया। स्थानीय लोगों की सूचना पर परिवार के लोगों ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया।
सिपाही ने फंदे से लटककर की खुदकुशी

गोरखपुर. बलिया के मूलनिवासी सिपाही आसिफ ने रात फंदे से लटक कर खुदकुशी कर ली। आसिफ 2018-19 बैच का सिपाही था। वह पिछले 2 साल से गोरखपुर के रामगढ़ताल थाने में तैनात था। साथी पुलिसकर्मियों के अनुसार, आसिफ रात में 8 बजे ड्यूटी कर घर गया था। वह सेल टैक्स ऑफिस के पास किराए का कमरा लेकर रहता था। रात में वह फंदे से लटककर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर आला अफसर मौके पर पहुंच गए थे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम भेजने के साथ ही सिपाही के घर वालों को घटना की जानकारी दे दी है।
यह भी पढ़ें

Quick Read: पति और पत्नी, दोनों सरकारी कर्मचारी, तो एक को चुनाव ड्यूटी से मुक्ति

एंबुलेंस में डिलीवरी, रास्ते में गाड़ी रोककर कराया सुरक्षित प्रसव

कानपुर. भीतरगांव के साढ़ में थाने के सामने सङक पर डेरा जमाये अन्ना गौवंशों के झुंड के चलते भीषण जाम लग गया। भीतरगांव विकास खंड के अमौर गांव निवासी उमा देवी (25) को रविवार देर शाम प्रसव पीड़ा हुई। परिवार वालों ने एंबुलेंस को बुलाया। सूचना मिलने के 14 मिनट बाद एंबुलेंस गांव पहुंची और गर्भवती उमा के साथ देवरानी रागिनी व आशा गीता तिवारी को लेकर भीतरगांव को निकली। रास्ते में लंबा जाम मिल गया जिसमें फंसकर एंबुलेंस धीरे-धीरे चलने लगी और समय से सीएचसी भीतरगांव नहीं पहुंच सकी। इस दौरान महिला को प्रसव पीड़ा तेज हो गई। एंबुलेंस 108 के ईएमटी अनीश कुमार और चालक पंकज कुमार ने रास्ते में गाड़ी रोककर महिला की सुरक्षित डिलीवरी कराई।
बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल की बिगड़ी तबीयत

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के भाई और गाजीपुर से बसपा सांसद अफजाल अंसारी की अचानक तबीयत बिगड़ गई है। उन्हें मेदांता अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया गया है। उनकी आंतों में समस्या है। मेदांता अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर के मुताबिक रविवार रात को सांसद अफजाल अंसारी भर्ती हुए हैं। डॉक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा है। रिपोर्ट आने के बाद बीमारी की सही पुष्टि होगी।
यह भी पढ़ें

Quick Read: चुनाव ड्यूटी के लिए अधिगृहित हुईं 600 बसें

यूपी में 19 जनवरी से कोरोना पीक पर

कानपुर. आईआईटी कानपुर के प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने कोरोना की तीसरी लहर पर नया आकलन किया है। गणितीय मॉडल के आधार उन्होंने जो अध्ययन किया है उससे संभावना जताई है कि प्रदेश में 19 जनवरी से कोरोना की तीसरी लहर की पीक आ सकती है। इसमें रोजाना 40 से 50 हजार केस सामने आएंगे। हालांकि, जनवरी के आखिरी सप्ताह से केस कम होने शुरू हो जाएंगे। फरवरी के आखिरी हफ्ते तक यूपी में तीसरी लहर खत्म हो जाएगी। प्रोफेसर अग्रवाल के अनुसार, ओमिक्रॉन ने जब फैलना शुरू किया था, तब बहुत चिंता थी। लेकिन लगभग हर जगह निष्कर्ष निकला है यह केवल माइल्ड संक्रमण का खतरा बनता है और परीक्षण के बजाय मानक उपचार के साथ इसे संभाला जा सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलIAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.