यूपी में मौसम ने ली करवट, अब सर्द हुई रातें

यूपी में मौसम ने ली करवट, अब सर्द हुई रातें

Prashant Srivastava | Publish: Nov, 10 2018 12:40:39 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

दिवाली के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में मौसम ने करवट ले ली है। पिछले तीन दिनों में पांच दिनों में न्यूनतम तापमान में 7 डिग्री और अधिकतम तापमान में 3 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई।

लखनऊ. दिवाली के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में मौसम ने करवट ले ली है। पिछले तीन दिनों में पांच दिनों में न्यूनतम तापमान में 7 डिग्री और अधिकतम तापमान में 3 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई। दिवाली के बाद 9 नवंबर को पार कुछ बढ़ा लेकिन मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार आने वाले दिनों में फिर तेजी से तापमान गिरेगा। ऐसे में इस बार पिछली बार से अधिक सर्दी पड़ने के आसार हैं। बदलते मौसम के साथ आने वाले हफ्ते में सर्दी का असर भी बढ़ने वाला है। अगले हफ्ते तक अधिकतम तापमान 26 से 27 डिग्री के बीच रहने की संभावना है, लेकिन रातें सर्द होंगी। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो 14 नवंबर तक न्यूनतम पारा 10 डिग्री तक लुढ़क सकता है। ऐसे में नवंबर के महीने में ही काफी ठंड का सामना लोगों को करना पड़ेगा।

 

ऐसे गिरा पारा


तारीख अधिकतम (डिग्री) न्यूनतम(डिग्री)

 

4 नवंबर -30 -18

5 नवंबर -26 -15

6 नवंबर -28 - 15
7 नवबंर -28 -13
8 नवंबर -27 -11
9 नवंबर -30 -13

10 नवबंर - 27 -12


आगामी पांच दिन का अनुमान

11 नवंबर -27 12

12 नवंबर -27 13

13 नवंबर -26 14

14 नवंबर -26 10

 

ये है ठंड बढ़ने का कारण

 

मौसम विभाग के अनुसार पहाड़ों की बर्फबारी से मैदानी इलाकों में मौसम करवट लेगा। उत्तरी-पश्चिमी हवा दीपावली से गुलाबी ठंड का एहसास कराएंगी। वहीं राजधानी के तापमान में भी मंगलवार से गिरावट आने के आसार हैं। रोशनी के त्योहार दीपावली में मौसम खुशगवार होगा। राज्य में उत्तरी-पश्चिमी हवा ने दस्तक दे दी है। ऐसे में पहाड़ों से आने वाली ये हवाराजधानी समेत राज्य ठंड का अहसास कराएंगी।

राजधानी स्थित आंचलिक मौसम केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक, श्रीनगर, हिमांचल व उत्तराखंड में बर्फबारी से मैदानी इलाकों का तापमान गिरेगा। राजधानी में मंगलवार से इसका असर दिखेगा। वहीं पश्चिमी क्षेत्र के जनपद में तापमान सामान्य से कम दर्ज किया गया है। राजधानी में सोमवार को शहर का अधिकतम तापमान 30.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य रहा। वहीं न्यूनतम 15.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जोकि सामान्य से एक डिग्री अधिक रहा।


किसानों के लिए खुशखबरी नहीं

हल्की बूंदा-बांदी किसानों के लिए आफत बन सकती है। दरअसल, गर्मीयों में बोई गई धान की फसलें खेतों में लहरा रही हैं। कहीं कटी जा रही हैं तो कहीं कटने को तैयार हैं। कड़ी मशक्कत से लगाई गई धान की फसलों के बरबाद होने का किसानों में डर बना हुआ है।

लखनऊ की हवा हुई जहरीली


बता दें कि दिवाली पर हुई आतिशबाजी व अन्य कारणों से लखनऊ में सांस लेने लायक हवा का स्तर बेहद खराब है। दीपावली के रोज देर रात तक हुई आतिशबाजी ने वायु प्रदूषण के मामले में अगले रोज दिल्ली को भी पछाड़ दिया। दिवाली के अगले दिन लखनऊ में एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 412 था। रैंकिंग के हिसाब से यह देश में छठे नंबर पर था। गुरुवार को दिल्ली का एक्यूआइ 390 रिकार्ड किया गया।गत वर्ष दीपावली के अगले रोज लखनऊ में एक्यूआइ केवल 255 ही रिकार्ड हुआ था। यानी इस बार हवा करीब डेढ़ गुना ज्यादा जहरीली हुई है। आतिशबाजी के अलावा मौसम भी इसका एक बड़ा कारक माना जा रहा है।

Ad Block is Banned