दोपहर दो बजे से चार बजे के बीच आ सकता है तूफान, इन बातों का रखें ध्यान

Prashant Srivastava

Publish: May, 18 2018 12:41:49 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
दोपहर दो बजे से चार बजे के बीच आ सकता है तूफान, इन बातों का रखें ध्यान

मौसम विभाग ने शुक्रवार खासतौर पर दो बजे से चार बजे के आस-पास लोगों को एलर्ट रहने के लिए बोला है।

लखनऊ. तूफान का डर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बना हुआ है। मौसम विभाग ने शुक्रवार खासतौर पर दो बजे से चार बजे के आस-पास लोगों को एलर्ट रहने के लिए बोला है। मौसम विभाग ने संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर अलर्ट रहने को कहा है। मौसम विभाग की ओर से जारी एलर्ट नोटिफिकेशन में कहा गया है कि 50 से 70 किमी.प्रति घंटे की गति से हवाएं चल सकती हैं। बता दें कि तूफान के कारण अब तक 200 से ज्यादा मौत हो चुकी हैं।

इन शहरों में ज्यादा खतरा

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी उप्र के रामपुर, मुरादाबाद, बिजनौर, सहारनपुर और मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारियों को खासतौर से सतर्क रहने की सलाह दी गई है. इसके अतिरिक्त कुशीनगर, सिद्घार्थनगर और महाराजगंज जिले के आसपास के इलाकों में 18 मई और 19 मई को धूल भरी तेज हवाएं चलने की चेतावनी दी गई है।

मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, दिन में आंशिक तौर पर बदली का असर रहेगा और बीच-बीच में तेज धूप भी निकलेगी. दिन का अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है.मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार को राजधानी लखनऊ का न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सिस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद है.लखनऊ के अतिरिक्त शुक्रवार को बनारस का न्यूनतम तापमान 21 डिग्री, कानपुर का 22 डिग्री, इलाहाबाद का 23 डिग्री, गोरखपुर का 24 डिग्री और झांसी का 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

ये है तूफान की आशंका का मुख्य कारण

राजधानी स्थित आंचलिक मौसम केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि उत्तरी पाकिस्तान और जम्मू कश्मीर के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। बुधवार को पश्चिमी और पूर्वी उत्तर प्रदेश में कई स्थानों पर धूलभरी आंधी और गरज-चमक के साथ बारिश होने का अनुमान है। इसके अलावा उत्तर-पश्चिम राजस्थान और मध्य प्रदेश के ऊपर एक टर्फ भी विकसित हुआ है। पश्चिम बंगाल के ऊपर चक्रवातीय दबाव भी केन्द्रित है, जिसके चलते बिहार समेत कई राज्यों में भारी बारिश का अनुमान है।

इन बातों का रखें घ्यान

-तूफान की आशंका के दौरान मकान की छतों पर भारी भरकम एवं तेज हवाओं में उडकऱ नुकसान पहुंचाने वाले सामान को सही प्रकार से रखें। छतों की मुंडेरों और दीवारों पर रखे हुए गमलों को भी नीचे सुरक्षित रखें।टीन एवं हल्के पदार्थों वाली छतों का विशेष ध्यान रखें।

-बिजली के उपकरणों तथा खम्बों से दूर रहें। तेज तूफान आदि के दौरान वृक्षों एवं खम्बों के गिरने की स्थिति में नजदीकी उपतहसील या तहसील मुख्यालय अथवा लघु सचिवालय में सूचित करें।

-रात को सोते समय अपने पास टॉर्च आदि की व्यवस्था रखें तथा इलैक्ट्रोनिक उपकरणों को प्लग से बाहर निकालकर सोएं।
किसानों से अपील है कि वे अपनी तूड़ी व अनाज को संभालकर रखें।

 

 

 

-सोशल मीडिया पर फैलाई जाने वाली व्यर्थ की अफवाहों पर ध्यान न दें। सक्षम लोग मौसम विभाग की वैबसाईट www.imd.gov.in पर सही जानकारी प्राप्त का सकते हैं एवं आस-पास के लोगों को भी इसके बारे में जागरूक कर सकते हैं।


-आंधी-तूफान की गति व अन्य मार्गों की जानकारी टीवी, मोबाइल व अन्य संचार माध्यमों से करते रहें। अपने परिवार व समुदाय के लोगों को संभावित खतरे के प्रति सावधान करा दें।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned