20, 335 लोगों को तीन महीने के अंदर मिलेगी सरकारी नौकरी

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ बेरोजगारों को एक बड़ा तोहफा देने जा रहे हैं

By: Ruchi Sharma

Published: 10 Feb 2018, 12:08 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ बेरोजगारों को एक बड़ा तोहफा देने जा रहे हैं। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग यूपीएसएसएससी समूह ग के तहत 20,335 पदों के भर्तियों का रास्ता साफ कर दिया है। यह भर्तियां तीन महीने के भीतर ही शुरू हो जाएगी।

जानकारी हो कि सपा शासन में आयोग ने कई विभागों के समूद ‘ग’ के 20335 पदों पर भर्ती की थी। इसमें भ्रष्टाचार की तमाम शिकायतें सामने आई थीं। भाजपा ने सत्ता में आने के बाद इन नियुक्तियों की विजिलेंस जांच का फैसला किया था। इसके बाद से पूरी प्रक्रिया ठप पड़ी थी।

यह भी पढ़ें- सपा सरकार की रुकी 20 हजार भर्तियां अब होंगी

भर्तियों की सीबीआई जांच की वजह है ये

उत्तर प्रदेश सरकार ने स्पष्ट किया है कि पीसीएस व लोअर सब ऑर्डिनेट परीक्षा में स्केलिंग के नाम पर एक क्षेत्र विशेष व जाति विशेष के अभ्यर्थियों के अंक बढ़ाने, पेपर आऊट हो जाने के बावजूद भी परीक्षा निरस्त न करने, व्यक्ति विशेष को लाभ पहुंचाने, उत्तर पुस्तिका बदलने, आरक्षण सम्बन्धी नियमों का उल्लंघन करने, क्षेत्र व जाति विशेष के अभ्यर्थियों को अधिक अंक दिए जाने की शिकायतें मिली थीं। परीक्षाओं में धांधली के कारण योग्य परीक्षार्थियों के साथ अन्याय हुआ, जिससे उनमें कुंठा व हताशा हुई। इसलिए सीबीआई जांच का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें- यूपी शिक्षक भर्ती 2018 के बदल गये नियम, 5 साल तक यूपी के निवासी कर सकते हैं आवेदन

नियमावली बनाने की तैयारी

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरह समूह ग के सभी पदों की एकल परीक्षा कराने के लिए मॉडल नियमावली बनाने की तैयारी में है। वहीं आयोग ने उर्दू अनुवादकों के 112 पदों के लिए संपन्न परीक्षा के प्रश्नपत्रों की जांच विशेषज्ञ टीम से कराने का फैसला लिया है। इस परीक्षा के संबंध में आयोग को यह शिकायत मिली है कि प्रश्नपत्र नियमावली में दी गई व्यवस्था के तहत नहीं तैयार किया गया था।

Bharatiya Janata Party
Show More
Ruchi Sharma
और पढ़े
अगली कहानी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned