यूपी में रुकेगी भ्रूण हत्या, सीएम योगी ने 'मुखबिर' योजना का किया शुभारंभ

यूपी में रुकेगी भ्रूण हत्या, सीएम योगी ने 'मुखबिर' योजना का किया शुभारंभ
Chief Minister Yogi Adityanath

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिला हेल्पलाइन रेस्क्यू वैन को भी दिखाई हरी झंडी...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर गंभीर है। आज (24 जून) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक तरफ भ्रूण हत्या रोकने के लिए 'मुखबिर' योजना का शुभारंभ किया, वहीं वह 64 जिलों के लिए महिला हेल्पलाइन रेस्क्यू वैन को भी हरी झंडी दिखाई। बता दें कि अभी तक केवल 11 जिलों में रानी लक्ष्मीबाई आशा ज्योति केंद्र संचालित हो रहे हैं, जहां पर सरकार ने रेस्क्यू वैन दे रखी है।

भ्रूण हत्या रोकने के लिए सरकार मुखबिर योजना शुरू करने जा रही है। योजना के तहत ऐसे सक्रिय मुखबिरों को तैयार किया जाएगा जो लिंग की पहचान व अवैध गर्भपात कराने वाले व्यक्तियों और संस्थाओं की गोपनीय सूचना जुटाएंगे। मुखबिर की सूचना पर गर्भवती महिला के साथ एक सहायक को ग्राहक बनकर जाएगा। यह टीम लिंग चयन के बदले जैसे ही केमिकल लगे करेंसी नोटों से भुगतान करेगी, स्वास्थ्य विभाग की टीम सुबूत के साथ दोषियों को गिरफ्तार कर लेगी।

यह भी पढ़ें :narendra-modi-shanti-path-and-full-speech-on-international-yoga-day-2017-1605811/" target="_blank"> पीएम मोदी का योग पर भाषण नहीं सुना तो पढ़िए ये खबर

तीन किश्तों में मिलेगी रकम
सही सूचना और सफल ऑपरेशन पर मुखबिर को 60 हजार, मिथ्या ग्राहक को 1 लाख और उसके सहायक को 40 हजार रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी। सभी को यह राशि तीन किश्तों में मिलेगी। पहली किस्त तब मिलेगी जब वह सूचना सही निकलेगी। दूसरी किस्त न्यायालय में हाजिरी के दौरान मिलेगी और तीसरी किस्त की राशि तब मिलेगी, जब न्यायालय से दोषियों को सजा मिलेगी। इस योजना की फंडिंग राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से होगी।  खास बात यह है कि इस योजना में मुखबिर की पहचान गुप्त रखी जाएगी, लेकिन अगर बार-बार उसकी सूचनाएं गलत निकलती हैं तो उसे काली सूची में डाल दिया जाएगा। 

ऐसे बनेंगे मुखबिर
राज्य या केंद्र सरकार की सेवाओं में कार्यरत व्यक्तियों या गर्भवती महिलाओं को मुखबिर, मिथ्या ग्राहक या सहायक के तौर पर चुना जा सकेगा। मिथ्या ग्राहक बनने के लिए गर्भवती महिला को शपथ पत्र देना होगा। मुखबिर, मिथ्या ग्राहक या सहायक बनने के लिए राज्य स्तर पर सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकरण या पीसीपीएनडीटी अधिनियम के राज्य नोडल अधिकारी से और जिला स्तर पर जिलाधिकारी या मुख्य चिकित्सा अधिकारी से संपर्क किया जा सकता है।


रविवार को महिलाएं निकलेंगी बाइक रैली
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर कन्या भ्रूण हत्या को रोकने और समाज को जागरूक करने के लिए 25 जून को महिलाएं बाइक रैली निकालेंगी। इस रैली को 'उड़ान' का नाम दिया गया है। रैली को महिला कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned