यूपी  में 32385 सड़क दुर्घटनाओं में 23205 लोग घायल हुए, गई 17666 की जान

यूपी  में 32385 सड़क दुर्घटनाओं में 23205 लोग घायल हुए, गई 17666 की जान
road accident

Santoshi Das | Updated: 23 Jun 2016, 06:57:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही रही

लखनऊ.उत्तर प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही रही।  रॉन्ग कट, रस ड्राइविंग, फास्ट ड्राइविंग की वजह से लोग घायल हो रहे हैं और जान जा रही है। यह आंकड़े राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद, सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार के सदस्य डॉक्टर कमलजीत सोइ ने लखनऊ में आयोजित पीसी में दी।

डॉ कमलजीत ने बताया की सड़क पर वाहन से होने वाली मौत को कम करने के लिए गाड़ियों में स्पीड गवर्नर डिवाइस लगाना चाहिए। इससे वाहनों से होने वाली दुर्घटनाओं में कमी आएगी।

यूपी भारत के तीन सबसे खतरनाक शहरों में से एक

राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो की वर्ष 2015 की रिपोर्ट के अनुसार उत्‍तर प्रदेश में 32385 सड़क दुर्घटनाओं में 23205 लोग घायल हुए और 17666 को अपनी जान गंवानी पड़ी। वर्ष 2014 में कुल 26064 दुर्घटनाओं में 16458 लोग घायल हुए, जबकि 16284 काल के मुं‍ह में समाए।

प्रदेश में लगभग 10 प्रतिशत कामर्शियल वाहनों में स्‍पीड गवर्नर लगाए जाने हैं। बेतहाशा दौड़ने वाले ये कमर्शियल वाहन उत्तर प्रदेश राज्य में सड़क और राष्ट्रीय राजमार्गों पर होने वाली मौतों की संख्या में वृद्धि के प्रमुख कारण में से एक है।

स्‍पीड गवर्नर का कार्यान्वयन एक तात्कालिक और आपातकालीन कदम है, जो वाहन की गति सीमित करते हुए सड़क दुर्घटना के परिणामस्वरूप होने वाली मौतों की संख्या को कम कर सकता है।

विभिन्न राज्यों द्वारा कार्रवाई

 माननीय उच्‍चतम न्‍यायालय के विभिन्न निर्देशों के तहत, कर्नाटक ने जांच सूची अनुसार पात्र स्पीड गवर्नर निर्माताओं से आवेदन आमंत्रित किए थे और उनका चयन करते हुए इसका कार्यान्वयन भी शुरू कर दिया है, जबकि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना ने स्‍पीड गवर्नर लगाने हेतु प्रतिस्पर्धी बोली के लिए बोलीदाताओं के चयन हेतु समिति गठित करने के लिए दिनांक शासकीय आदेश जारी कर दिया है। झारखंड, हरियाणा और ओडिशा के साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार भी स्‍पीड गवर्नर के लिए पहल करने वाली है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned