लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 62.3 फीसदी वोटिंग, कम मतदान से प्रत्याशियों की बढ़ी धुकधुकी

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 62.3 फीसदी वोटिंग, कम मतदान से प्रत्याशियों की बढ़ी धुकधुकी

Hariom Dwivedi | Publish: Apr, 18 2019 06:31:24 PM (IST) | Updated: Apr, 18 2019 07:43:53 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर हुआ मतदान
- 88 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद
- 23 मई को आएगा चुनाव परिणाम
- कहीं त्रिकोणीय मुकाबला कहीं सीधी फाइट

लखनऊ. लोकचुनाव के दूसरे चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा और फतेहपुर सीकरी में मतदान खत्म हो गया। दूसरे चरण में शाम छह बजे तक कुल 62.3 फीसदी मतदान हुआ है। सबसे ज्यादा 68.77 प्रतिशत वोटिंग अमरोहा में हुई। इसके अलावा बिजनौर के नगीना में 62.10 फीसदी, अमरोहा में 68.77 फीसदी, बुलंदशहर में 62.14 फीसदी, अलीगढ़ में 62.8 फीसदी, हाथरस में 61.25 फीसदी, मथुरा में 60.56 फीसदी, आगरा में 59.6 फीसदी तथा आगरा के फतेहपुर सीकरी में 61.16 फीसदी मतदान हुआ। इस चरण में कुल 62.3 फीसदी मतदान हुआ हो, 2014 के मुकाबले में कम है। तब यहां 68 फीसदी मतदान हुआ था। यूपी में पहले चरण के चुनाव में 63.69 फीसदी मतदान हुआ था।

बुलंदशहर को छोडकऱ कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। बुलंदशहर में मतदान केंद्र के अंदर जाने के कारण सांसद तथा भाजपा प्रत्याशी डॉ. भोला सिंह को नजरबंद कर दिया इन्हें मतदान खत्म होने के बाद छोड़ा गया। अमरोहा में वोटिंग शुरू होने के 2 घंटे के बाद ही भाजपा सांसद और पार्टी के प्रत्याशी कंवर सिंह तंवर ने सनसनीखेज आरोप अपने विरोधियों पर लगाया। उन्होंने बुर्के में फर्जी वोटिंग की बात की। हालांकि, एक घंटे बाद वह अपने आरोप से पलट गए। मतदान के समय चुनाव से जुड़े एक व्यक्ति के मरने की भी खबर आयी। हाथरस में मतदानकर्मियों को लेकर आई प्राइवेट बस के परिचालक की मौत हो गयी। वह फिरोजाबाद के एक गांव का रहने वाला था। रात में वह बस में ही सोया था। सुबह उठने के कुछ देर बाद उसकी मौत हो गयी।

ईवीएम में खराबी की शिकायत
बुलंदशहर और बिजनौर समेत कुछ स्थानों पर ईवीएम मशीनों में खराबी की वजह से मतदान कुछ समय के लिए बाधित हुआ। बाद में इन्हें ठीक कर लिया गया। आगरा में विकास कार्यों के न होने से नाखुश मतदाताओं ने वोट का बहिष्कार किया। अलीगढ़ के बिजौना बुजुर्ग में भी मतदान के बहिष्कार किया गया। दोपहर तक यहां बूथ सूना पड़ा रहा। प्रत्याशियों को मतदाताओं को वोट डालने के लिए मनाना पड़ा। कम मतदान का असर प्रत्याशियों की जीत पर पड़ेगा इससे उनकी धडकऩें बढ़ गयी हैं।

खुशगवार में मौसम में खूब बरसे वोट
सुबह मौसम काफी खुशगवार रहा। लोग घरों से निकलकर मतदान केंद्रों में लंबी लाइन में लगे। सुबह 7 बजे शुरू हुए मतदान का प्रतिशत समय के साथ बढ़ता गया। पहले दो घंटा यानी सात से नौ बजे तक कुल मतदान जहां 10.76 प्रतिशत था, वही अगले दो घंटा में काफी बढ़ गया। इसके बाद 11 से एक बजे के बीच भी मतदान केंद्रों पर भीड़ बढ़ती ही रही। एक बजे तक कुल प्रतिशत 38.94 हो गया था। तीन बजे तक 50.39 प्रतिशत मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग किया।

इन प्रत्याशियों की प्रतिष्ठा दांव पर
आठ लोकसभा क्षेत्र में 88 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गयी है। जिन सियासी दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर हैं, उनमें हेमामलिनी-मथुरा, राजबब्बर-फतेहपुर सीकरी और सरकार के मंत्री एसपी सिंह बघेल-आगरा प्रमुख हैं। इन सभी आठ सीटों पर भाजपा ने 2014 में जीत दर्ज की थी। इन आठ सीटों में से नगीना, बुलंदशहर, हाथरस और आगरा सुरक्षित सीट हैं।

 

देखें वीडियो...

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned