Quick Read: 46 दिन बाद पटरी पर लौटी वंदेभारत एक्सप्रेस, वाराणसी-नई दिल्ली कराएगी सफर

देश की पहली सेमी हाईस्पीड टी-18 (ट्रेन वंदे भारत) स्पेशल ट्रेन 46 दिनों बाद शुक्रवार को पटरी पर लौट आई।

By: Karishma Lalwani

Published: 02 Apr 2021, 04:49 PM IST

46 दिन बाद पटरी पर लौटी वंदेभारत एक्सप्रेस, वाराणसी-नई दिल्ली कराएगी सफर

वाराणसी. देश की पहली सेमी हाईस्पीड टी-18 (ट्रेन वंदे भारत) स्पेशल ट्रेन 46 दिनों बाद शुक्रवार को पटरी पर लौट आई। तीन वर्ष की मियाद पूरी होने के कारण इस ट्रेन के रैक को पीओएच (फुल ओवर हालिंग) के लिए नई दिल्ली और लखनऊ स्थित आलमबाग कार्यशाला में भेजा गया था। यात्री इस ट्रेन में अब अपना आरक्षण करा सकेंगे। रेल अधिकारियों के अनुसार 18 माह पूरे होने या छह लाख किलोमीटर की यात्रा के बाद ट्रेन के रैक को वर्कशाप में ओवरहालिंग के लिए भेजना जरूरी होता है। होली की छुट्टियां बिताकर लौटने वालों की भीड़ के चलते यह ट्रेन पहले दिन दोनों तरफ से पैक थी। 45 दिनों की अवधि में तेजस एक्सप्रेस रैक से सफर करने वालों की जेब पर भी बोझ कम पड़ा। अब वंदेभारत एक्‍सप्रेस दोबारा दो अप्रैल से अपनी गति से यात्रियों को सफर कराने में व्‍यस्त हो गई है। पूरी तरह ट्रेन का मेंटेनेंस जांच होने के बाद यह सफर पटरी पर चलने को तैयार है।

प्रयागराज मंडल ने किया रिकॉर्ड कायम

प्रयागराज. इंडियन रेलवे के प्रयागराज मंडल ने माल ढुलाई में रिकॉर्ड कायम किया। वित्तीय वर्ष 2020-21 में माल ढुलाई से प्रयागराज मंडल को 57.90 करोड़ रुपये राजस्व मिला। मार्च 2021 में 6.5 लाख टन माल ढुलाई करते हुए अब तक का सर्वाधिक रिकॉर्ड हासिल किया। नैनी और प्रयागराज छिवकी समेत प्रयागराज मंडल के कुछ और जगहों से खाद्यान्न ढुलाई से रेलवे ने कमाई की। प्रयागराज मंडल ने पहली बार अपने प्रयासों से पांच मिलियन टन माल लदान किया। बिजनेस डवलेपमेंट यूनिट (बीडीयू) के प्रयास से मंडल के 10 गुड्स शेड अलीगढ़, चुनार, इटावा, फिरोजाबाद, कानपुर गुड्स शेड, मैनपुरी, मीरजापुर, नैनी, प्रयागराज छिवकी, पनकी धाम व शिकोहाबाद में माल ढुलाई में तेजी आई। माल ढुलाई से प्रयागराज मंडल को 57.90 करोड़ रुपये राजस्व मिला। 1.86 लाख टन सीमेंट का लदान कर लगभग नौ करोड़ की आय अर्जित की।

रेलवे क्रॉसिंग पर होने वाले जाम से मिलेगा छुटकारा, पीएम मोदी करेंगे लोकार्पण

वाराणसी. शहर से सारनाथ को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग पर रेलवे क्रासिंग के चलते लगने वाले लंबे जाम से अब जल्द छुटकारा मिलने वाला है। आशापुर रेलवे ओवरब्रिज पर लोड टेस्टिंग का काम शुरू हो गया है। 15 अप्रैल तक इस परियोजना को पूरा कर लिया जाएगा। उधर, प्रशासन ने प्रधानमंत्री कार्यालय को मार्च और अप्रैल में पूरी होने वाली परियोजनाओं की सूची भेज दी है। उम्मीद जताई जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मई में आशापुर आरओबी का लोकार्पण कर सकते हैं। आशापुर आरओबी का निर्माण कार्य 98 प्रतिशत पूरा हो गया है। सेतु निगम ने बाकी बचे काम के लिए 12 करोड़ रुपये की मांग की थी जो मिल गई है। आशापुर आरओबी के पूरा होने की समयसीमा फरवरी 2021 थी, लेकिन फंड रिलीज नहीं होने के कारण यह काम करीब डेढ़ महीने की देरी से पूरा होगा। पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका निरीक्षण किया था। उस दौरान धनराशि जारी करने के लिए पत्र भेजने के साथ बाकी बचे काम को मार्च तक पूरा करने की मोहलत दी थी। 12 करोड़ रुपए मिलने के बाद यह काम तेज हुआ है। लोड टेस्टिंग शुरू हो गई है। 15 अप्रैल तक फिनिशिंग का काम पूरा हो जाएगा।

पति और बिजनेस पार्टनर ने शराब पिला कर किया दुष्कर्म

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी जनपद में नदेसर क्षेत्र निवासी कपड़े के एक व्यापारी ने पत्नी को शराब पिलाकर अपने बिजनेस पार्टनर के साथ उसका दुष्कर्म किया। पति की कार्रवाई नहीं होने पर पत्नी ने कोर्ट में गुहार लगाई। इसके बाद कैंट थाने में आरोपी पति और उसके बिजनेस पार्टनर के खिलाफ पुलिस ने दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया है। यह कार्रवाई अदालत के आदेश पर कपड़ा व्यापारी की पत्नी की तहरीर के आधार पर की गई है। दरअसल, जैतपुरा थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला के अनुसार, नौ मई 2020 को पति ने अपने घर में बिजनेस पार्टनर की मौजूदगी में उसे जबरन शराब पिलाया। इसके बाद पति के बिजनेस पार्टनर ने उसके साथ दुष्कर्म कर वीडियो क्लिप बना ली। इस घटना से आहत होकर वह 10 मई को अपने मायके चली गई। 29 जून को उसका पति उसके मायके आकर उससे माफी मांगा और उसे वापस ससुराल लाया। इसके बाद दुष्कर्म के वीडियो को सोशल मीडिया में वायरल करने की धमकी देकर उसके साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म करने लगा। इस संबंध में वह कैंट थाने और एसएसपी कार्यालय में गुहार लगाई लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई तो वह अदालत की शरण में गई। इंस्पेक्टर कैंट ने कहा कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

पति-पत्नी की गोली मारकर हत्या

लखीमपुर खीरी. यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में देर रात पति-पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दंपति की हत्या के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। डबल मर्डर की ये वारदात कोतवाली मोहम्मदी कस्बा के इस्लामाबाद मोहल्ले की है। मृतकों का नाम राम कृष्ण और उसकी पत्नी गुड्डी है। इलाके से पास में रहने वाले इंद्रपाल नाम के शख्स ने पहले राम कृष्ण को गोली मार दी। गोली की आवाज सुनकर जब गुड्डी बाहर निकली तो आरोपी ने उसे भी गोली मार दी और फरार हो गया। गोली की आवाज सुनकर लोग वहां पहुंचे, लेकिन तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने वारदात के पीछे प्रेम प्रसंग का अंदेशा जताया है। घटना के बाद एसपी ने भी मौके पर पहुंचकर जायजा लिया।

ये भी पढ़ें: Quick Read: परिषदीय स्कूलों में सिखाए जाएंगे आत्मरक्षा के गुर

ये भी पढ़ें: Quick Read: यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए सैकडों स्कूल में लगेंगे सीसीटीवी और राउटर

PM Narendra Modi
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned