scriptUttar Pradesh politics increased Importance of cap | यूपी की राजनीति में बढ़ी टोपी की अहमियत | Patrika News

यूपी की राजनीति में बढ़ी टोपी की अहमियत

यूपी की राजनीति में अब 'टोपियों' की अहमियत और बढ़ रही है। पीएम मोदी के भगवा टोपी पहनने के बाद बीते भाजपा स्थापना दिवस समारोह में ढेर सारे नेताओं को टोपी पहने देखा गया। अब अधिकतर भाजपा विधायकों सामान्य भगवा 'गमछा' छोड़ भगवा टोपी पहने देखे गए थे। टोपी पहनने की प्रवृत्ति उत्तर प्रदेश तेजी से बढ़ रही है।

लखनऊ

Updated: June 13, 2022 05:46:25 pm

यूपी की राजनीति में अब 'टोपियों' की अहमियत और बढ़ रही है। पीएम मोदी के भगवा टोपी पहनने के बाद बीते भाजपा स्थापना दिवस समारोह में ढेर सारे नेताओं को टोपी पहने देखा गया। अब अधिकतर भाजपा विधायकों सामान्य भगवा 'गमछा' छोड़ भगवा टोपी पहने देखे गए थे। टोपी पहनने की प्रवृत्ति उत्तर प्रदेश तेजी से बढ़ रही है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कहा जाता है डिजाइन की गई 'टोपी' को मंजूरी मिलने से पहले कई बार समीक्षा की गई है। इन फैशनेबल टोपी पर पतली कढ़ाई संग प्लास्टिक का 'लोटस' पिन किया गया है। कमल पार्टी का चुनाव चिन्ह है। सूत्रों ने कहा है, पार्टी ने अपने सभी सांसदों और वरिष्ठ नेताओं को सार्वजनिक रूप से टोपी पहनने का निर्देश दिया है। अब वह दिन दूर नहीं जब भगवा रंग की टोपी आने वाले दिनों में भाजपा कार्यकतार्ओं की पहचान बनेगी।
april-7-to-20-bjp-will-run-social-justice-fortnight-across-the-country.jpg
विधानसभा चुनाव में चर्चा में आई टोपी

विधानसभा चुनाव 2022 में टोपी अचानक चर्चा का विषय बन गया। जब भाजपा नेताओं ने समाजवादी पार्टी के नेताओं की पहनी जाने वाली लाल टोपी पर निशाना साधा और चुनावी सभाओं के दौरान कहा कि, लाल का मतलब खतरा है। लाल टोपी को विरोध देख, सपा ने प्रतिक्रिया स्वरूप हर आयोजन में लाल टोपी पहनना शुरू कर दिया।
यह भी पढ़ें - UP MLC Election Result 2022 : डिप्टी सीएम केशव मौर्य समेत सभी 13 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित

टोपी का रंग बताता है पार्टी का

राजनीतिक समारोहों में भगवा और लाल रंग की टोपी को देखकर अन्य पार्टी के नेताओं में भी अपनी पार्टी की टोपी पहनने का प्रेम जग गया। और अन्य पार्टी के नेताओं ने भी टोपी पहनना शुरू कर दिया है। कांग्रेस नेता विधानसभा और सार्वजनिक समारोहों में सफेद टोपी पहनते हैं, जबकि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के विधायकों को पीली टोपी पहने देखा जा सकता है। बसपा नेताओं की गहरी नीली टोपी है जबकि अपना दल के नेता नीली और लाल टोपी पहनते हैं।
यह भी पढ़ें

समुदाय विशेष को टारगेट करके बुलडोजर चलाना अन्यायपूर्ण, नूपुर शर्मा की तत्काल गिरफ्तारी जरूरी : मायावती

टोपी में रोजगार का अवसर

अब जैसे-जैसे टोपियों की डिमांड बढ़ रही है। वैसे ही उद्यमियों के लिए एक अवसर लेकर आ रही है। ऋचा दत्ता का कहना है, राजनेताओं द्वारा पहनी जाने वाली अधिकांश टोपियां उमस भरे मौसम में नीचे गिर जाती हैं। हम अच्छी सामग्री का उपयोग करके टोपियां बनाएंगे। मुझे विश्वास है कि अगले कुछ महीनों में, आपको अधिकांश राजनेता मिल जाएंगे टोपी पहने हुए हैं। हम पहले से ही विभिन्न दलों के साथ बातचीत कर रहे हैं और पार्टी कार्यालयों के पास स्टाल लगाएंगे।
ऋचा ने उनके डिजाइन की जाने वाली टोपी बनाने के लिए एक महिला स्वयं सहायता समूह को शामिल किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.