scriptUttar Pradesh Polytechnic College Admission Seats Reduce | Admission: उत्तर प्रदेश के पॉलिटेक्निक संस्थानों में क्यों घटेंगी सीटें, बड़ी बदलाव की जनिए वजह | Patrika News

Admission: उत्तर प्रदेश के पॉलिटेक्निक संस्थानों में क्यों घटेंगी सीटें, बड़ी बदलाव की जनिए वजह

Uttar Pradesh POlytechnic Update: उत्तर प्रदेश की राजकीय और अनुदानिक पॉलिटेक्निक में सीटें घटाई जाएंगी। यादि आप भी पॉलिटेक्निक में प्रवेश लेने जा रहे हो तो जान लीजिए करीब 600 तक सीटें कम करने की संभावना है। शासन को पत्र भेज दिया गया है।

लखनऊ

Updated: April 04, 2022 12:10:08 pm

प्रदेश की पॉलिटेक्निक संस्थानों में सीटें घटने जा रही हैं। दरअसल, प्रवेश क्षमता के मुकाबले शिक्षकों की संख्या काफी कम है। ऐसे में इस बार अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) इन संस्थानों पर सीट घटाने की कार्रवाई कर सकता है। इसके लिए शासन को पत्र भी भेजा गया है। आपको बता दें कि प्रदेश में कुल 165 पॉलिटेक्निक हैं। जिनमें नए शिक्षकों की भर्ती ना होने से मात्र 1487 शिक्षक ही शेष रह गए हैं। सीटे घटने की सबसे बड़ी वजह शिक्षकों की भर्ती नहीं होना है। एआईसीटीई ने शासन को पत्र भेजकर सीटे घटाने या शिक्षकों की भर्ती पर बात की है। नए सत्र के पहले ही तस्वीर साफ हो जाएगी।
UP Polytechnic
Uttar Pradesh Polytechnic College Admission Seats Reduce
प्रदेश में 147 राजकीय और 18 अनुदानित पॉलीटेक्निक संस्थान हैं। इनकी 74 ट्रेडों में करीब 60 हजार छात्र प्रशिक्षण ले रहे हैं। इन छात्रों को पढ़ाने की जिम्मेदारी 5002 शिक्षकों के कंधे पर है । लेकिन बीते कुछ वर्षों में इनमें से 3515 शिक्षक सेवानिवृत्त हो चुके हैं। जबकि नए शिक्षकों की भर्ती ना होने से 1487 शिक्षक ही शेष रह गए हैं। पॉलीटेक्निक संस्थानों में कोई भी ऐसी ट्रेड नहीं है जिसमें पर्याप्त शिक्षक हो। हर ट्रेड गेस्ट लेक्चरर के भरोसे चल रही है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने पिछले वर्ष नवंबर माह में संस्थाओं से इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर रिपोर्ट मांगी थी। प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादातर सहायता प्राप्त संस्थाओं में शिक्षकों की बात सामने आई थी।
यह भी पढ़ें

उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों के लिए लखनऊ क्यों बना कर्मस्थली

करीब 600 सीटों पर मंडरा रहे संकट के बादल

रिपोर्ट के आधार पर ही सहायता प्राप्त संस्थाओं की दूसरी पाली पर अस्थाई रोक लगा दी गई थी। सहायता प्राप्त संस्थान दूसरी पाली में करीब 600 सीटों पर छात्रों का प्रवेश लेते हैं। परिषद की ओर से ऐसे सभी संस्थानों से अपना पक्ष भी रखने को कहा गया था। हालांकि सूत्रों की माने तो तकनीकी शिक्षा परिषद ने संस्थाओं के पक्ष को खारिज कर दिया है। इसलिए आशंका है कि अगस्त से शुरू होने वाले नए सत्र में भी दूसरी पाली में प्रवेश नहीं होंगे। इन पर रोक जारी रह सकती है। वहीं निदेशक प्राविधिक शिक्षा मनोज कुमार ने बताया कि उम्मीद है सीटें कम नहीं होंगी। व्यवस्थाओं में सुधारकर जल्द ही और अधिक सीटें बढ़ाने के लिए प्रयास किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Assam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीराजस्थान BJP में सियासी रार तेज: वसुंधरा ने शायरी से साधा निशाना... जिन पत्थरों को हमने दी थीं धड़कनें, वो आज हम पर बरस...कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीक्रिकेट इतिहास के 5 सबसे लंबे गेंदबाज, नंबर 1 की लंबाई है The Great Khali के बराबरकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.