scriptUttar Pradesh Top News | Quick Read: दिल्ली-वाराणसी के बीच शुरू होगी 'दिव्य काशी यात्रा' | Patrika News

Quick Read: दिल्ली-वाराणसी के बीच शुरू होगी 'दिव्य काशी यात्रा'

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर ‘‘दिव्य काशी यात्रा'' ट्रेन का संचालन शुरू किया जाएगा। गुजरात के सोमनाथ में नए सर्किट हाउस के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बताया था कि दिव्य काशी यात्रा के लिए एक विशेष ट्रेन दिल्ली से शुरू होने जा रही है।

लखनऊ

Updated: January 24, 2022 09:39:14 am

दिल्ली-वाराणसी के बीच चलेगी 'दिव्य काशी यात्रा'

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर ‘‘दिव्य काशी यात्रा'' ट्रेन का संचालन शुरू किया जाएगा। गुजरात के सोमनाथ में नए सर्किट हाउस के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बताया था कि दिव्य काशी यात्रा के लिए एक विशेष ट्रेन दिल्ली से शुरू होने जा रही है। आईआरसीटीसी के जनसंपर्क अधिकारी आनंद झा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस ट्रेन को चलाए जाने के संबंध में शुक्रवार को घोषणा की थी। वाराणसी में पर्यटकों की बढ़ती मांग के मद्देनजर ‘दिव्य काशी यात्रा' ट्रेन चलाई जा रही है, जिसका वाणिज्यिक संचालन दिल्ली से काशी के लिए होगा। उन्होंने बताया कि ट्रेन में प्रथम और द्वितीय वातानुकूलित श्रेणी में कुल 156 सीट होंगी।
Uttar Pradesh Top News
Uttar Pradesh Top News
बीमारी से पत्नी की मौत, सदमे में पति ने तोड़ा दम

चंदौली. भरछा गांव निवासी 72 वर्षीय श्यामलाल राम की 70 वर्षीया पत्नी दासी देवी काफी दिनों से लकवा से पीड़ित थी। उनकी सेवा श्यामलाल खुद ही करते थे। रविवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे दासी देवी की हालत गम्भीर हो गई। इलाज के लिए श्यामलाल कहीं ले जाने की तैयारी में ही थे कि दासी की मौत उनके सामने ही हो गई। पत्नी की मौत से श्यामलाल को सदमा लग गया। उस समय घर पर उनका इकलौता बेटा अजय भी नहीं था। वह किसी रिश्तेदार के यहां गया था। इधर श्यामलाल मौत का समाचार रिश्तेदारों को देने के लिए फोन कर रहे थे। इसी बीच बेहोश होकर गिर पड़े। परिजन डॉक्टर को बुलाकर उनके इलाज के लिए लाए लेकिन तब तक उनकी भी मौत हो चुकी थी।
देश का तीसरा सर्वाधिक प्रदूषित शहर वाराणसी

वाराणसी. ठंड के साथ ही बनारस की हवा में प्रदूषक तत्वों की मात्रा फिर से बढ़ गई है। देर शाम जारी आंकड़ों के अनुसार बनारस देश का तीसरा सर्वाधिक प्रदूषित शहर रहा। टॉप टेन प्रदूषित शहरों की सूची में प्रदेश के नौ शहर शामिल हैं। जौनपुर देश का दूसरा सर्वाधिक प्रदूषित शहर रहा। जौनपुर का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 325 और बनारस का एक्यूआई 282 दर्ज किया गया। मौसम का पारा गिरने के साथ ही हवा में प्रदूषक तत्वों के कारण एक्यूआई फिर से खराब हो गया है। आईक्यू एयर की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार बनारस तीसरा सबसे प्रदूषित शहर है।
यह भी पढ़ें

बच्चे नहीं, अभिभावक और शिक्षक फहराएंगे 26 जनवरी को तिरंगा

काम करते-करते ठेकेदार से हो गया इश्क

वाराणसी. जौनपुर जनपद के रामपुर थाना क्षेत्र के भरतीपुर गांव निवासी एक दंपत्ति अहमदाबाद में रहकर एक ठेकेदार के साथ काम करते थे। काम करते-करते विवाहिता का ठेकेदार के साथ प्रेम संबंध हो गया था। एक साल पहले पति-पत्नी वापस अपने गृह जनपद जौनपुर आ गए। घर चलाने के लिए यहां पर रहकर काम करते थे। इस दौरान गुपचुप तरीके से उसका संबंध ठेकेदार से बना ही रहा। हालांकि की घर वालों की इसकी भनक नहीं लग सकी थी। उन्हें विवाहिता के ठेकेदार के साथ संबंध की जानकारी नहीं थी। कुछ दिन पहले विवाहिता ने वाराणसी के कपसेठी थाना क्षेत्र स्थित अपने मायके जाने की बात कही। पति की सहमति मिलने के बाद एक सप्ताह पूर्व विवाहिता अपने मायके कपसेठी क्षेत्र में आ गई थी। चार दिन पहले अपने प्रेमी ठेकेदार के साथ फरार हो गयी। अपने साथ तीन बच्चों को भी लेकर गयी। जब कई दिनों तक विवाहिता से सम्पर्क नहीं हुआ तो उसने पति ने मायके में पता लगाया। यहां से जानकारी मिली कि उसकी पत्नी अपने तीन बच्चों के साथ चार दिन पहले ही अपने ससुराल जौनपुर के लिए चली गई है।
चंबल सैंक्चुअरी में तेंदुएं ने दो शावकों को दिया जन्म

इटावा. इटावा जिले मे उदी-चकरनगर मार्ग पर चिकनी टॉवर के पास एक पखवारे पहले दिन मादा तेंदुआ ने दो नर शावकों को जन्म दिया है। चंबल सेंचुरी के प्रभागीय वन अधिकारी दिवाकर श्रीवास्तव ने कहा कि चंबल नदी के किनारे वन कर्मियों को तेंदुओं के पगचिन्ह मिले थे, उसके बाद खोजबीन पर एक स्थान पर मादा तेंदुए के दो शावक मिले। उसके बाद उस इलाके को जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया। वन अधिकारियों के मुताबिक चंबल सेंचुरी में बाह से लेकर भरेह तक के 165 किलोमीटर लंबे बीहड़ में करीब 70 से 80 तेंदुआ हैं। हालांकि इनकी कोई गणना तो अभी तक नहीं हुई है, लेकिन ग्रामीणों, चरवाहों व एनजीओ की गणना के आधार पर इनका आंकलन किया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.