संविदा कर्मचारियों की उम्र बढ़ने से लेकर संसद मार्च तक पढ़िये ये टॉप न्यूज

संविदा कर्मचारियों की उम्र बढ़ने से लेकर संसद मार्च तक पढ़िये ये टॉप न्यूज

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 03 2018 05:07:55 PM (IST) | Updated: Sep, 03 2018 05:15:48 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

समूह ग में भर्ती के लिए प्री और मेन्स परीक्षा देने का फैसला किया गया है

लखनऊ. संविदा कर्मचारियों की अधिकतम सेवा उम्र जहां पहले 45 साल थी, वहीं उसे बढ़ाकर अब 55 साल कर दिया गया है। समूह ग में भर्ती के लिए प्री और मेन्स परीक्षा देने का फैसला किया गया है। इसके अलावा शिक्षक दिवस पर आठ माध्यमिक शिक्षक पुरस्कृत किए जाएंगे। वहीं पेंशन बहाली मांग को लेकर पांच सितम्बर को कर्मचारी संसद मार्च में शामिल होंगे।

55 की उम्र तक नौकरी कर सकेंगे संविदा कर्मचारी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश पॉवर कार्पोरेशन लिमिटेड की नई व्यवस्था के तहत संविदा कर्मचारी अब 55 की उम्र तक काम कर सकेंगे। पहले अधिकतम सेवा उम्र 45 थी, जिसे बढ़ाकर 55 वर्ष कर दिया गया है। इसके साथ ही नियुक्ति व तैनाती के नियमों में भी बदलाव किए गए हैं। संविदा कर्मचारी पहले अपने गृह तहसील में तैनाती नहीं पा सकते थे लेकिन अब इसमें भी बदलाव किया गया है। साथ ही तीन साल तक शहरी क्षेत्रों में और पांच साल तक ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतम तैनाती की समय सीमा भी तय कर दी गयी है।

समूह ग भर्ती के लिए प्री और मेन्स परीक्षा अनिवार्य

लखनऊ. उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग भर्ती परीक्षा पैटर्न में अब बदलाव किया जाएगा। समूह ग के पद में भर्ती के लिए प्री और मेन्स परीक्षा देनी होगी। इस संबंध में आयोग प्रस्ताव भेजकर शासन से अनुमति लेगा। इसके अलावा राज्य सरकार ने समूह ग भर्ती के लिए साक्षात्कर समाप्त कर दिए है। लिखित परीक्षा के जरिये ही भर्तियां की जाएंगी। राज्य सरकार का मानना है कि साक्षात्कर से होने वाली भर्तियों में धांधली की संभावना ज्यादा रहती है। इसलिए धांधली रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है।

5 सितम्बर को पुरस्कृत किए जाएंगे आठ माध्यमिक शिक्षक

लखनऊ. माध्यमिक शिक्षा विभाग ने 8 शिक्षकों को पुरस्कृत करने की सूची जारी कर दी है। पिछले साल की तर्ज पर इस बार भी 25 शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाएगा जिसमें से 8 की सूची जारी कर दी गयी है। वहीं बेसिक शिक्षा विभाग में पुरस्कृत करने के लिए साक्षात्कर की प्रक्रिया चल रही है। चुने गए शिक्षकों को मुख्यमंत्री 5 सितम्बर को पुरस्कृत करेंगे। इसी के साथ उन्हें पुरस्कार राशि 25 हजार रुपये भी दी जाएगी। यह राशि पहले 10 हजार थी लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 25 हजार कर दिया गया है।

पेंशन बहाली मांग को लेकर संसद मार्च में आयोजित होंगे दस हजार कर्मचारी

लखनऊ. लखनऊ ट्रेड यूनियनों के संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से पांच सितम्बर को नई दिल्ली में संसद मार्च का आयोजन किया जाएगा। इसमें उत्तर प्रदेश के 10 हजार कर्मचारी भागीदारी होगे। उत्तर प्रदेश फेडरेशन ऑफ मिनिस्ट्रियल सर्विस एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष नरेंद्र प्रताप सिंह, प्रवक्ता सी.पी श्रीवास्तव ने बताया कि पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर पांच सितम्बर को संसद मार्च आयोजित किया जाएगा। इसमें लोक निर्माण विभाग, पर्यटन, कृषि, सिंचाई, स्थानीय निकाय समेत विभाग में कार्यरत और अन्य जिलों के कर्मचारी संसद मार्च करेंगे।

Ad Block is Banned