राज्य कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार समेत स्मार्ट सिटी तक पढ़िये ये खबरें

राज्य कर्मचारियों के कार्य बहिष्कार समेत स्मार्ट सिटी तक पढ़िये ये खबरें

Mahendra Pratap | Publish: Sep, 09 2018 05:11:58 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

11 व 12 अक्टूबर को कार्य बहिष्कार करेंगे राज्य कर्मचारी

लखनऊ. राज्य कर्मचारी 11 व 12 अक्टूबर को पुराना पेंशन बहाली, कैशलैस इलाज और वेतन समिति की रिपोर्ट आने के बाद भी कोई कदम न उठाए जाने पर करेंगे कार्य बहिष्कार।

राज्य कर्मचारी करेंगे 11 व 12 अक्टूबर को कार्य बहिष्कार

लखनऊ. राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने प्रदेश सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। उन्होंने 11 व 12 अक्टूबर को कार्य बहिष्कार आंदोलन करने का एलान किया है। साथ ही सरकार को चेतावनी दी है कि अगर इसके बाद भी कर्मचारियों की लंबित मांगे पूरी नहीं हुई, तो आर-पार का आंदोलन छेड़ने पर मजूबर हो जाएंगे। दरअसल पुराना पेंशन बहाली, कैशलैस इलाज, वेतन समिति की रिपोर्ट मिल जाने के बाद भी कोई कदम न उठाने को लेकर सरकार की आलोचना की गई है। 50 साल से ज्यादा ऊपर के कर्मचारियों को जबरदस्ती सेवानिवृत्त करने के फैसले पर भी रोष जताया गया है।

2942 चयनित वीडिओ को सीएम सौंपेंगे नियुक्ति पत्र

लखनऊ. डॉ. राममनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय के सभागर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में 2942 ग्राम विकास अधिकारियों को नियुक्ति पत्र सौंपेंगे। सफल अभ्यर्थियों को विभिन्न जिलों में तैनाती के लिए नियुक्ति पत्र सॉफ्टवेयर में जारी किए जाएंगे। सफल अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्राप्त करने के लिए एडमिट कार्ड के साथ ही साक्षात्कर पत्र लाना अनिवार्य होगा।

यूपीएसएसएससी के लिए बनेंगे एक से ज्यादा प्रश्नपत्र

लखनऊ. उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अब विभिन्न पदों पर होने वाली भर्तियों की लिखित परीक्षा के लिए एक से ज्यादा प्रश्नपत्र तैयार किए जाएंगे। इससे होगा यह कि भविष्य में अगर प्रश्नपत्र की स्थिति आई भी तो परीक्षा निरस्त करने के बजाय दूसरे प्रश्नपत्र से परीक्षा करा दी जाएगी। आयोग के अधिकारी ने बताया कि वर्तमान में एक प्रश्नपत्र के आठ सेट तैयार किए जाते हैं। एक ही प्रश्नपत्र होने की वजह से पेपर लीक होने की वजह से परीक्षा निरस्त करने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता।

स्मार्ट सिटी के तहत बनेंगी 5-5 मॉडल सड़कें

लखनऊ. केंद्र सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन के तहत प्रदेश के 10 शहरों को चमकाने की कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए 5-5 सड़कों को मॉडल के तौर पर बनाया जाएगा। इस संबंध में प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने बताया कि प्रत्येक स्मार्ट सिटी में प्रमुख पांच-पांच सड़कों के चयन के निर्देश नगर इकायों को भेज दिए गए हैं। इन सड़कों से बिजली के तारों का जंजाल हटाकर इन्हें भूमिगत किया जाएगा।

Ad Block is Banned