UP Top Ten News: यूपी बोर्ड के मेधावियों को मिलेगी 80 हजार की स्कॉलरशिप

यूपी बोर्ड (UP Board) की 2020 इंटरमीडिएट परीक्षा में विज्ञान वर्ग में 390 या अधिक अंकों के साथ पास होने वाले मेधावियों को इंस्पायर योजना के तहत सालाना 80 हजार रुपये की छात्रवृत्ति मिलेगी। सचिव यूपी बोर्ड दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि यह ड्रीम स्कॉलरशिप उन्हीं को मिलेगी जिन्होंने नैचुरल और बेसिक साइंस में दाखिला लिया है।

By: Karishma Lalwani

Published: 01 Oct 2020, 03:42 PM IST

यूपी बोर्ड के मेधावियों को मिलेगी 80 हजार की सालाना स्कॉलरशिप

लखनऊ. यूपी बोर्ड (UP Board) की 2020 इंटरमीडिएट परीक्षा में विज्ञान वर्ग में 390 या अधिक अंकों के साथ पास होने वाले मेधावियों को इंस्पायर योजना के तहत सालाना 80 हजार रुपये की छात्रवृत्ति मिलेगी। सचिव यूपी बोर्ड दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि यह ड्रीम स्कॉलरशिप उन्हीं को मिलेगी जिन्होंने नैचुरल और बेसिक साइंस में दाखिला लिया है। यानि गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान अथवा लाइफ साइंस जैसे वनस्पति विज्ञान, जन्तु विज्ञान आदि में स्नातक व इंटीग्रेटेड स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश लेने वाले ही फार्म भर सकते हैं। छात्रवृत्ति के लिए सालाना 60 हजार रुपये नकद और 20 हजार रुपये प्रोजेक्ट के लिए मिलते हैं। पिछले साल 389 या अधिक अंक पाने वाले मेधावियों को यह छात्रवृत्ति मिली थी।

छह महीने बाद पीजीआई में ओपीडी शुरू

लखनऊ. कोरोना के चलते लॉकडाउन से बन्द पीजीआई की ओपीडी गुरुवार से शुरू हो गई। यह ओपीडी संस्थान की नवीन ओपीडी में है। ओपीडी में उन्हीं मरीजों को देखा जाएगा। जिन्हें डॉक्टर बुलाएंगे। रोजाना 10 नए मरीज और पांच पुराने मरीज देखे जाएंगे। सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल ने कोरोना संक्रमण के चलते ओपीडी का कार्यक्रम जारी कर दिया है। यह आदेश संस्थान के सभी विभागाध्यक्ष को भेज दिया है। ओपीडी में हर विभाग के दो सीनियर रेजिडेंट और एक डॉक्टर मौजूद रहेगा।ओपीडी में दिखाने के लिए मरीजों को ई ओपीडी की तर्ज पर पहले फोन पर सलाह लेनी होगी। मरीज ई ओपीडी के पुराने नम्बरों पर बात करेंगे। डॉक्टर फोन पर मरीज की बीमारी के बारे में बात करेंगे। मरीज का उपचार सम्भव होने पर डॉक्टर उसे दवाई फोन पर बता देंगे नहीं तो मरीज को पीजीआई बुलाकर डॉक्टर देखेंगे।

बिना ड्राइवर चलने लगा ट्रक, मची अफरा-तफरी

लखनऊ. लखनऊ के त्रिवेणीनगर में रात करीब 12 बजे सीतापुर रोड पर खड़ा एक ट्रक अचानक चल पड़ा। उस पर ड्राइवर नहीं था। उसे आगे बढ़ता देख वहां खड़े आइस्क्रीम ठेला वाले और राहगीरों में अफरा-तफरी मच गई। दरअसल, ड्राइवर ट्रक किनारे खड़ा करके नीचे उतर गया था। ट्रक पर काफी भारी सामान लदा हुआ था। उसने पहिये के नीचे ईंटा लगा दिया था लेकिन ट्रक थोड़ा ढलान पर था, इस वजह से वह ईंट के ऊपर चढ़ता हुआ आगे बढ़ गया। ड्राइवर ने आगे बढ़ते ट्रक में चढ़ कर ब्रेक लगाने की कोशिश की पर तब तक ट्रक रफ्तार पकड़ चुका था और दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

आधी रात घर में घुसे डकैत, विरोध पर मां-बेटी को मार डाला

रायबरेली. रायबरेली के नसीराबाद थाना क्षेत्र के एक गांव में डकैतों ने धावा बोल दिया और विरोध करने पर मां-बेटी को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया। मामला नसीराबाद के हाजीपुर गांव का है। जहां के एक घर में डकैतों ने बुधवार रात धावा बोल दिया। लूट के बाद उन्होंने सफिफुन निशां (50) और खुशी (14) की हत्या कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। वहीं, वारदात के कारण सफिफुन निशां के घर पर ग्रामीण इकट्ठा हो गए। जिले के पुलिस अधीक्षक व बड़ी संख्या में पुलिस बल घटनास्थल पर तैनात है।

ये भी पढ़ें: अनलॉक के साथ ही बढ़ रहा प्रदूषण, प्रदेश में अव्वल तो देशभर में तीसरे स्थान पर राजधानी लखनऊ

शादी के दबाव में प्रेमिका को उतारा मौत के घाट

कानपुर. शादी का दबाव बना रही प्रेमिका से छुटकारा पाने के लिए प्रेमी ने उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना कानपुर के ककवन छानाक्षेत्र के नदीहा धामू गांव की है। 19 वर्षीय युवती राधा का शव शनिवार की सुबह गांव से एक किलोमीटर दूर पेड़ के नीचे खेत की मेड़ पर पड़ा मिला था। मृतका के भाई सर्वेश ने गांव के दो युवकों पर बहन की हत्याकर शव फेंकने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। थाना प्रभारी अमित कुमार मिश्रा ने बताया कि दोनों आरोपितों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो सच सामने आ गया। पूछताछ में आरोपित आलोक उर्फ शोभित राजपूत ने बताया कि ढाई वर्ष से राधा से प्रेम प्रसंग चल रहा था, वह चोरी छिपे एक दूसरे से अक्सर मिलते थे। अब राधा शादी करने के लिए दबाव बना रही थी। जबकि वह उससे शादी नहीं करना चाहता था। राधा से छुटकारा पाने के लिए उसे मार दिया।

सात से चलेगी कानपुर-बांद्रा एक्सप्रेस

कानपुर. कानपुर से मुंबई के बांद्रा टर्मिनस रेलवे स्टेशन तक चलने वाली ट्रेन सात अक्तूबर से स्पेशल ट्रेन बनकर चलने लगेगी। यह ट्रेन फर्रुखाबाद रूट से चलती है। कन्नौज, अछनेरा, राजस्थान के भरतपुर, सवाई माधोपुर, कोटा, रामगंज मंडी, मध्यप्रदेश के नागदा, रतलाम, गुजरात के गोधरा, वडोदरा, सूरत होते हुए बांद्रा पहुंचेगी। कानपुर सेंट्रल स्टेशन से यह ट्रेन (02243) सात अक्तूबर से सप्ताह में हर बुधवार को शाम 6:20 बजे चलेगी। दूसरे दिन रात 11:05 बजे बांद्रा टर्मिनस पहुंचेगी। वापसी में (02244) बांद्रा से नौ सितंबर से हर शुक्रवार सुबह 5:10 बजे छूटेगी। दूसरे दिन सुबह 8:35 बजे कानपुर सेंट्रल पहुंचेगी।

ये भी पढ़ें: हाथरस जैसी एक और हैवानियत, बलरामपुर में दुष्कर्म के बाद तोड़े पीड़िता के पैर और कमर, आजमगढ़, और फतेहपुर में भी दरिंदगी

सात को सीएम योगी करेंगे प्रदेश के पहले जटायु संरक्षण केंद्र का उद्घाटन

गोरखपुर. वाइल्ड लाइफ वीक के अंतिम दिन सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर वन प्रभाग में खुलने वाले प्रदेश के पहले जटायु संरक्षण और प्रजनन केंद्र का उद्घाटन करेंगे। पिछले दिनों ही इसे लेकर संस्तुति मिली है। इसके बाद तैयारियां शुरू कर दी गईं हैं। जटायु संरक्षण और प्रजनन केंद्र महाराजगंज के फरेंदा के भारी बैसी गांव में पांच एकड़ में केंद्र को स्थापित किया जाएगा। डीएफओ अविनाश कुमार ने बताया कि दो अक्टूबर से आठ अक्टूबर तक वाइल्ड लाइफ वीक मनाया जाता है। इस वीक में सात तारीख को लखनऊ मुख्यमंत्री आवास से ऑनलाइन होने वाले इस शिलान्यास कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ केंद्र का उद्घाटन करंगे। सरकार ने इस मद में पहले ही 83 लाख रुपये स्वीकृत करते हुए प्रभागीय वन विभाग को दे दिया है। पूरे प्रोजेक्ट में लगभग 15 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

साड़ी से लटके मिले महिला और तीन बच्चियों के शव

औरैया. उत्तर प्रदेश में एक के बाद एक आपराधिक घटनाओं के बीच औरैया से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। औरैया के दिबियापुर थाना क्षेत्र में एक साड़ी से चार शव लटके मिले हैं। एक साथ चार शव मिलने से इलाके में दहशत फैल गई है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर भारी पुलिस फोर्स पहुंच गया है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार चार शवों में एक शव महिला का और तीन बच्चियों के बताए जा रहे हैं। पुलिस घटना की जांच में जुट गई है। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी इस मामले में अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। ये हत्या है या आत्महत्या इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगी। महिला के परिजन भी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। फोरेंसिक टीम घटना स्थल से साक्ष्य एकत्र करने में जुटी है।

पेड़ से लटका मिला नर कंकाल, एक महीने लटक रहा था शव

कानपुर. कानपुर के साढ़ थानाक्षेत्र में बुधवार देररात नीम के पेड़ से एक नरकंकाल लटकता हुए मिलने से सनसनी फैल गई। जंगल में नीम के पेड़ से एक युवक का शव लगभग एक महीने से लटक रहा था। शाम करीब पांच बजे चरवाहों की नजर नीम के पेड़ से लटकते हुए शव पर पड़ी। इसके बाद फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तो पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। साढ़ पुलिस लगभग तीन घंटे तक जंगलों में शव को तलाश करती रही और कुछ देर बाद उसे ढूंढ निकाला। दांच में पता चला कि शव एक महीने पुराना है, जिस कारण वह नरकंकाल में तब्दील हो चुका है। दुर्गंध की वजह से वहां खड़ा होना भी मुश्किल था। इसलिए शव को उतारने के लिए कोई राजी नहीं था।

नहाने के पानी को लेकर हुई बहस, युवक ने कुएं में कूद कर दी जान

कानपुर. हमीरपुर के पठानपुरा मोहल्ला में नहाने के पानी को लेकर मां से विवाद होने पर युवक ने कुएं में छलांग लगा दी। पठानपुरा निवासी हरिश्चंद्र ने बताया कि उसका भाई भोला (34) ई रिक्शा चला कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। गुरुवार सुबह मां धंती हैंडपंप से पानी भर के लाई थी। भोला ने नहाने के लिए मां से पानी मांगा। मां द्वारा खुद पानी भर कर लाने की कहने पर दोनों में विवाद हो गया। जिससे आक्रोशित होकर भोला ने घर के पास ही बने गहरे कुएं में छलांग लगा दी। युवक को कुएं में छलांग लगाते देख मोहल्ले में रह औंता ग्राम प्रधान कल्लू राजपूत में तत्काल रस्सी डालकर उसे बाहर आने के लिए कहा। लेकिन वह कुएं से बाहर आने को तैयार नहीं था। सूचना पर जब तक फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची युवक कुआं में डूब चुका था।

ये भी पढ़ें: Unlock 5.0: स्कूलों को लेकर दिशानिर्देश जारी, मॉल, यात्रा को लेकर बने ये नियम, जानें किन पर मिली रियायत, किस पर है प्रतिबंध

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned