सर्दी की दस्तक के साथ बढ़ रहा प्रदूषण का स्तर, जहरीली हुई शहरों की हवा

गुलाबी ठंड की दस्तक के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ने लगा है। राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के अन्य शहरों की हवा जहरीली होने लगी है। कई शहरों का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) खराब स्थिति में पहुंच गया है। ज्यादातर शहरों का एक्यूआइ 300 से ऊपर है।

By: Karishma Lalwani

Published: 31 Oct 2020, 09:57 AM IST

लखनऊ. गुलाबी ठंड की दस्तक के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ने लगा है। राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के अन्य शहरों की हवा जहरीली होने लगी है। कई शहरों का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) खराब स्थिति में पहुंच गया है। ज्यादातर शहरों का एक्यूआइ 300 से ऊपर है। इस समय लखनऊ केसाथ-साथ आगरा, कानपुर, वाराणसी, गाजियाबाद आदि शहरों में प्रदूषण का मात्रा बहुत ज्यादा है। इन शहरों की साफ हवा अब धूमिल हो गई है। दिल्ली में भी यही हाल है। एनसीआर के प्रमुख शहरों में एक्यूआइ 400 के करीब है। प्रदूषण का मुख्य कारण वाहनों से निकलने वाला धुआं और पराली जलाए जाना है। लाख कोशिशों के बावजूद अभी भी कई जिलों में पराली जलने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इससे भी स्थिति और बदतर हो रही है।

पराली जलाने की 702 घटनाएं

प्रदेश सरकार ने पराली संबंधित आदेश जारी किए हैं। पराली जलाने से रोकने के लिए योगी सरकार ने कड़े नियम बनाए हैं। सरकारी आदेश के बावजूद कई शहरों में अब भी पराली जलाई जा रही है जिससे कि प्रदूषण बढ़ रहा है। अक्टूबर महीने में पराली जलाने की 702 घटनाएं सामने आईं हैं। इनमें 315 एफआईआर दर्ज हुई हैं। 13,47,500 रुपये का जुर्माना लगाया गया है जबकि 6,47,000 रुपये वसूले जा चुके हैं। पराली जलाने की घटनाओं को रोक पाने में नाकाम रहे 227 अफसरों के खिलाफ भी कार्रवाई हुई है।

प्रदूषण नियंत्रण के लिए कार्ययोजना

शुक्रवार को राजधानी लखनऊ का एक्यूआई 219 रहा। यहां की हवा खराब श्रेणी में पहुंच गई है। ताजनगरी आगरा का भी यही हाल है। यहां एक्यूआइ 346 पर पहुंच गया है। बढ़ते वायु प्रदूषण को देख प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण सुधीर गर्ग की अध्यक्षता में गठित राज्य स्तरीय एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग कमेटी ने सर्वाधिक प्रदूषित 16 शहरों के जिलाधिकारियों, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारियों व नगरीय निकायों के अफसरों को तत्काल स्थिति संभालने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें: फल सब्जियों के निर्यात को लगेंगे पंख, 10 जिलों में बनाए जाएंगे नए हाउस पैक

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned