दलितों के नाम पर समाजवादी मुखिया आंसू न बहाएं- डॉ. निर्मल

पार्टी के मुखिया किस मुंह से आरक्षण और दलित उत्पीड़न पर आंसू बहा रहे हैं।

By: Ritesh Singh

Published: 18 Feb 2020, 07:37 PM IST

लखनऊ , उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने कहा है कि कानपुर देहात की घटना और दलितों के आरक्षण को लेकर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव आंसू न बहाएं। डॉ. निर्मल ने कहा कि कानपुर देहात के मंगटा गांव के आरोपियों के विरुद्ध त्वरित कार्रवाई करते हुए न केवल 13 लोगों की गिरफ्तारी की गई है. पीड़ित परिवारों को 24 लाख रुपए की आर्थिक सहायता भी स्वीकृत की गई है।

डॉ. निर्मल ने कहा है कि समाजवादी पार्टी का दलित प्रेम पूरी तरह से हास्यास्पद है। जिस समाजवादी पार्टी की सरकार में दलित उत्पीड़न पर प्राथमिकी तक नहीं दर्ज की जाती है और उनकी पार्टी के नेताओं द्वारा सरेआम आरक्षण का बिल संसद में फाड़ा गया, जिस समाजवादी पार्टी ने अपने घोषणापत्र में पदोन्नति में आरक्षण समाप्त करने का दावा किया गया। उस पार्टी के मुखिया किस मुंह से आरक्षण और दलित उत्पीड़न पर आंसू बहा रहे हैं।

डॉ. निर्मल ने यह भी कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में न केवल दलित उत्पीड़न पर विराम लगा है, अपितु दलितों का सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण भी हुआ है। जहां समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में डॉ. आंबेडकर और कांशीराम के नाम से बनी संस्थाओं और पार्कों के नाम पदल दिए गए, वहीं, योगी आदित्याथ के कार्यकाल में बाबा साहेब डॉ. आंबेडकर की फोटो सभी सरकारी कार्यालयों में लगाई गई है।

budget 2020
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned