Smart City: शहर में होंगे 25 वाटर ATM, Rs 2 में मिलेगा शुद्ध पानी

Smart City: शहर में होंगे 25 वाटर ATM, Rs 2 में मिलेगा शुद्ध पानी
water atm in lucknow

बोतल या पाउच में मिला केमिकल पानी में घुल जाता हैं। यह शरीर में कैंसर जैसी बीमारियों को जन्म देता हैं। लेकिन एटीएम में स्टोर होने वाला पानी इन बीमारियों से दूर होता हैं।

लखनऊ. सूबे में तापमान अपने चरम पर है। ऐसे में गंदे पानी की मार भी कई क्षेत्रों को सहनी पड़ रही है। जाहिर है रोज़मर्रा के कार्य गर्मी और सर्दी से बढ़कर हैं। ऐसे में चिलचिलाती गर्मी में लोगों को प्यास बुझाने के लिए महंगी बोतलें लेनी पड़ती हैं। कम कीमत में साफ़ पानी देने के लिये एक निजी संस्था द्वारा स्मार्ट मोबाइल वाॅटर एटीएम चलाया जा रहा है। इसे बढ़ावा देने केे अखिलेश सरकार के नेतृत्व में नगर विकास विभाग ने मंज़ूरी दे दी है। लखनऊ नगर निगम की ओर से एक पहल करते हुये शहर भर में करीब 25 एटीएम को चलने के लिये स्वीकृति प्रदान की गई है। ख़ास बात यह है कि शहर भर में चलने वाले इन एटीएम से नगर निगम द्वारा कोई भी टैक्स नहीं वसूला जायेगा। इसकी शुरुआत शनिवार को नगर विकास सचिव एसपी सिंह द्वारा पांच ई-एटीएम को हरी झंडी दिखा कर की गयी।

नगर विकास सचिव एसपी सिंह ने बताया कि नगर निगम द्वारा इन ई-एटीएम से कोई टैक्स नहीं वसूला जायेगा। इस एटीएम से लोगों को बेहद लाभ मिलेगा। इस भीषण गर्मी में जहां लोगों को प्यास बुझाने के लिये 20 रुपये की ठंडी बोतल खरीदनी पड़ती हैं, वहीं इसके माध्यम से लोग मात्र दो रुपये में अपनी प्यास बुझा पायेंगे। प्रारम्भ में यह शहर में 25 स्थानों पर दिखाई देंगे।

कैसे करेगा कार्य

भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत चलाये जा रहे इस ई-एटीएम में करीब तीन सौ लीटर पानी एक बार में स्टोर किया जा सकेगा। संस्था के डायरेक्टर विनीत वत्स ने बताया कि मशीन के निर्माण मे करीब तीन लाख का खर्च आया है। यह मशीन ई-लोडर रिक्शा के जरिये चलाई जाएगी। इसमें एडवांस टैक्नोलाॅजी का इस्तेमाल किया गया है। इसके माध्यम से साफ़ पीने का पानी मुहैया होने का भरोसा दिया जा सकते थे। इसमें लगे सेंसरों के माध्यम से पानी में किसी भी प्रकार की गड़बडी को तुरन्त जाना जा सकेगा।

बचेंगे कैंसर से
विनीत ने बताया कि इस एटीएम का मुख्य उद्देश्य शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाना हैं। अक्सर रोड पर प्यास लगने पर लोग या तो पानी की बोतल खरीदते हैं या पाॅलीथीन में पैक होकर बिकने वाला पानी का पाउच। इससे कई नुकसान हैं। उन्हें भी और पर्यावरण को भी। एक सर्वे के माध्यम से यह स्पष्ट हो चुका है कि रोड पर प्लास्टिक में बिकने वाला पानी सेहत के लिये हानिकारक होता है। बोतल या पाउच में मिला केमिकल पानी में घुल जाता हैं। यह शरीर में कैंसर जैसी बीमारियों को जन्म देता है। लेकिन एटीएम में स्टोर होने वाला पानी इन बीमारियों से दूर होता है।

क्या होगी कीमत

शहर भर में चलने वाले इन एटीम का मुख्य उद्देश्य लोगों तक शुद्ध व सस्ता पेय जल पहुंचाना हैं। लोगों को प्यास बुझाने के लिये एटीएम पर 250 एमएल के लिये 2 व लीटर के लिये 5 रुपये खर्च करना होगा।

लोगों को मिलेगा रोजगार
संस्था के डायरेक्टर ने बताया कि शहर में चलने वाले प्रत्येक एटीएम से एक व्यक्ति को रोजगार मिलेगा। इसके लिये निजी बैंक द्वारा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत लोन भी दिया जायेगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned