Weather Alert साल का दूसरा पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय, अगले तीन दिन भारी बारिश और बर्फबारी की चेतावनी

  • आज शाम तक जम्मू कश्मीर के करीब पहुंच जाएगा पश्चिमी विक्षोभ
  • अगले दिन से पहाड़ों पर दिखाई देगा असर, होगी बारिश और बर्फबारी
  • हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और यूपी समेत कई राज्यों में रहेगा असर Weather Alert

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. साल का पहले महीने में कड़ाके की ठंड से अभी निजात मिलने की संभावना (Weather Alert) कम ही दिख रही है। मौसम के उतार-चढ़ाव के बीच कोहरे और शीतलहर से उत्तर प्रदेश के कई इलाके जूझ रहे हैं। कई जगहों पर दिन में कड़ी धूप और रात में गलन व कोहरे का प्रकोप है। इधर उत्तर भारत में साल का दूसरा पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय हो चुका है और इसके 21 जनवरी की शाम तक जम्मू-कश्मीर के बेहद करीब पहुंचने और 22 जनवरी से पहाड़ों पर इसका असर दिखाई देेने की प्रबल संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ के चलते पहाड़ों पर बर्फबारी होगी, जिससे मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ेगी। 22 से लेकर 24 जनवरी तक कई इलाकों में बारिश की भी संभावना है। यूपी के कई शहरों में इस दौरान बारिश हो सकती है।


मौसम विभाग के मुताबिक जनवरी का दूसरा पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करने जा रहा है। इससे जम्मू कश्मीर से लेकर हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना है। इसके चलते पंजाब, हरियाणाा और यूपी के कुछ हिस्सों में भी बारिश का अनुमान है। यह सिस्टम उत्तरी अफगानिस्तान और इससे सटे उत्तरी पाकिस्तान के करीब पहुंच चुका है। उम्मीद है कि 21 जनवरी की शाम तक यह जम्मू कश्मीर के काफी नजदीक पहुंच जाएगा। 22 जनवरी से पहाड़ों पर इसका प्रभााव देखने को मिल सकता है।


हालांकि इसका सबसे ज्यादा असर जम्मू कश्मीर में ही माना जा रहा है। वहां पहाड़ों पर बारिश और बर्फबारी की ज्यादा संभावना है। अंदाजे के मुताबिक 22, 23 और 24 जनवरी को जम्मू कश्मीर में ज्यादातर जगहों पर भारी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। हिमाचल, उत्तराखंड और लद्दाख के कुछ इलाकों में में भी बारिश और बर्फबारी इस दौरान देखने को मिल सकती है। उत्तराखंड में 22 और 23 जनवरी को उत्तरकाशी से लेकर टिहरी गढ़वाल, रुद्रप्रयाग और चमोली में भी वर्षा व हिमपात की संभावना है।

 

पश्चिमी विक्षोभ का असर उत्तर प्रदेश के कई इलाकों पर भी दिखाई देगा। अनुमान के मुताबिक उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर, मुरादाबाद, मेरठ, अल्मोड़ा, बागपत में बारिश और गरज चमक के साथ छींटे पड़ सकते हैं।


उत्तरी-पश्चिमी हवाओं से बढ़ी ठंड

लखनऊ स्थित आंचलिक मौसम केन्द्र के निदेशक जेपी गुप्ता एक दिन पहले ही बता चुके हैं कि आज से उत्तरी-पश्चिमी हवाओं के चलने का दौर शुरू हे गया है। इससे तापमान में एक बार फिर गिरावट होना तय है। हालांकि लगभग एक हफ्ते के बाद फिर से पूर्वी हवाएं चलने लगेंगी। इससे तापमान में वृद्धि होनी शुरू हो जाएगी और लोगों को ठंड से राहत मिलने लगेगी। लेकिन अभी फिलहाल इस हफ्ते ठंड, गलन, कोहरा और शीतलहरी से कोई राहत नहीं मिलने वाली है।

mausam ki jankari
Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned