मौसम विभाग ने जारी किया नया अपडेट, तापमान में अचानक हुई बढ़ोत्तरी, अगले तीन-चार दिनों तक साफ रहेगा मौसम

मौसम विभाग ने जारी किया नया अपडेट, तापमान में अचानक हुई बढ़ोत्तरी, अगले तीन-चार दिनों तक साफ रहेगा मौसम
मौसम विभाग ने जारी किया नया अपडेट, तापमान में अचानक हुई बढ़ोत्तरी, अगले तीन-चार दिनों तक साफ रहेगा मौसम

Neeraj Patel | Publish: Oct, 06 2019 04:59:53 PM (IST) | Updated: Oct, 06 2019 06:32:24 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित कानपुर, आगरा, नोएडा बुन्देलखण्ड के आस-पास के इलाकों में अचानक मौसम बदलने से कड़ी धूप निकलने लगी, जिससे तापमान में अचानक बढ़ोत्तरी हो गई।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित कानपुर, आगरा, नोएडा बुन्देलखण्ड के आस-पास के इलाकों में अचानक मौसम बदलने से कड़ी धूप निकलने लगी, जिससे तापमान में अचानक बढ़ोत्तरी हो गई। वायु में आद्र्ता के कारण अभी गर्मी का ज्यादा एहसास नहीं हो रहा है। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने अभी अगले तीन-चार दिन मौसम साफ रहने की संभावना जताई है। लखनऊ का न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी पश्चिमी हवाएं चलना शुरू हो गई हैं, जिससे बारिश से आई नमी में कमी आ गई है। इस कारण तीन चार दिन तक मौसम साफ रहेगा।

वहीं दूसरी ओर पूर्वी भारत की ओर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र इस प्रणाली से एक ट्रफ रेखा गंगीय पश्चिम बंगाल के आस-पास से होते हुए तटीय आंध्र प्रदेश तक तक फैली हुई है। इस कारण खासकर पूर्वी उत्तर प्रदेश में मौसम में बदली के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। आपको बता दें कि रविवार को आगरा का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस, कानपुर का 26 डिग्री, बहराइच 24 डिग्री, फैजाबाद का 23 डिग्री, मेरठ का 21 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है। राजधानी लखनऊ का न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 24.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया हैं।

उत्तर प्रदेश में एक ओर जहां कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं तो वहीं बुन्देलखण्ड के कुछ जिलों में बारिश न होने से किसानों कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों का कहना है कि उत्तर प्रदेश के कई जिलों लोगों ने मूंग, उड़द, अरहर, तिलहन और धान की फसल पकने की कगार पर है, ऐसे में फसलों में अंतिम पानी देना बहुत जरूरी है लेकिन वाटर लेवल बहुत ज्यादा कम होने के कारण फसल में पानी नहीं लग पा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned