यूपी सहित 13 राज्यों में तूफान का अलर्ट, मौसम विभाग ने दी बड़ी चेतावनी, इन इलाकों में बाढ़ का खतरा

यूपी सहित 13 राज्यों में तूफान का अलर्ट, मौसम विभाग ने दी बड़ी चेतावनी, इन इलाकों में बाढ़ का खतरा
यूपी सहित 13 राज्यों में तूफान का अलर्ट, मौसम विभाग ने दी बड़ी चेतावनी, इन इलाकों में बाढ़ का खतरा

Akansha Singh | Updated: 16 Sep 2019, 12:20:54 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है।

- कई इलाकों में रविवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं।

- वहीं कई जगहों पर हल्की बारिश भी हुई।

लखनऊ. राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है। कई इलाकों में रविवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं। वहीं कई जगहों पर हल्की बारिश भी हुई। जिससे तापमान में गिरावट आई है। मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश समेत 13 राज्यों में सोमवार को भारी बारिश की आशंका जताई है। 16 से 18 सितंबर तक उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से में भारी बारिश हो सकती है। इस साल उत्तर प्रदेश में अब तक सामान्य से 24 प्रतिशत कम बारिश हुई है। उत्तर प्रदेश में लगातार बारिश और कानपुर, हरिद्वार के बैराज के अलावा नरौरा डैम से पानी छोड़े जाने के कारण पूर्वांचल में गंगा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है।

चंबल का रौद्र रूप

इटावा में चंबल नदी का रौद्ररूप दिखा गया है। चंबल नदी का जलस्तर बढ़ के 125.75 जा पहुंचा गया है। चंबल नदी का जलस्तर प्रतिधंटे करीब 3 सेंटीमीटर के आसपास बढ़ रहा है। जिलाधिकारी जे.बी.सिंह ने बताया कि बाढ़ प्रबंधन योजना के तहत 11 बाढ़ चौकियां स्थापित की गईं है । जलस्तर खतरे का निशान पार करने के बाद इन सभी चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। तहसील कार्यालय, प्राथमिक विद्यालय इमलिया, प्राथमिक विद्यालय भरेह, प्राथमिक विद्यालय गढ़ाकास्दा, प्राथमिक विद्यालय कचहरी, प्राथमिक विद्यालय अनेठा, प्राथमिक विद्यालय बंसरी, प्राथमिक विद्यालय जूनियर हाईस्कूल सिंडौस, प्राथमिक विद्यालय विंडवाखुर्द व प्राथमिक विद्यालय मर्दानपुरा में बाढ़ चौकियां बनाईं गईं है। इन बाढ़ चौकियों से 32 गांवों को जोड़ा गया है।

बांधों का बढ़ रहा जल स्तर

ललितपुर में पिछले 3 दिनों से जनपद के साथ-साथ समीपवर्ती मध्यप्रदेश के ऊपरी इलाकों में हो रही लगातार बारिश के कारण जनपद के सभी बांधों का जलस्तर बढ़ गया है। राजघाट बांध के 16 गेटों को खोलकर 372000 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है तो वहीं माताटीला के 20 गेटों को खोलकर लगभग 400000 क्यूसिक पानी की निकासी की जा रही है । इसके साथ-साथ ललितपुर शहर के पास स्थित गोविंद सागर बांध का जलस्तर भी बढ़ा हुआ है जिस कारण बांध के 18 गेटों के माध्यम से लगभग 20000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इसके साथ साथ शहजाद बांध जामनी बांध सजनाम बांध रोहिणी बांध आदि सी भी हजारों लीटर क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

गंगा खतरे के निशान से ऊपर

रविवार को बलिया और गाजीपुर में गंगा खतरे के निशान को पार कर गई। रविवार को नदी का जलस्तर 58.880 मीटर दर्ज किया गया। वाराणसी में जलस्तर चेतावनी बिंदु को पार कर लाल निशान की ओर बढ़ रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों बलिया, गाजीपुर, बलिया, मिर्जापुर और भदोही में बाढ़ को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। केंद्रीय जल आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, वाराणसी में गंगा चेतावनी बिंदु पार कर 70.32 मीटर पर बह रही है। वाराणसी में चेतावनी बिंदु 70.26 और खतरे का निशान 71.26 मीटर पर है। प्रशासन ने तटवर्ती लोगों को अलर्ट करने के साथ ही साथ पीएससी, पुलिस व एनडीआरएफ के जवानों को अलर्ट कर दिया है। यहां वरुणा भी उफान पर है। घरों में पानी घुस गया है।

इन राज्यों में भी भारी बारिश के चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, असम और मेघालय में कई स्थानों में भी दिन भर भारी बारिश हो सकती है। आईएमडी ने अपने अखिल भारतीय मौसम चेतावनी बुलेटिन में कहा कि तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराइकल, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम और गुजरात क्षेत्र में भारी बारिश की संभावना है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned