लॉकडाउन में शादियों का ट्रेंड: नवंबर के लिए सबसे ज्यादा बुकिंग, बिन मुहूर्त भी शादी करने को हो रहे राजी

- लॉकडाउन में शादी कारोबार में सकारात्मक नतीजे

- धीरे-धीरे बढ़ रही बुकिंग

- नवंबर में सबसे ज्यादा शादी के लिए बुकिंग

- रस्मों की डिजिटल स्ट्रीमिंग की भी डिमांड

By: Karishma Lalwani

Published: 14 Aug 2020, 03:10 PM IST

लखनऊ. लॉकडाउन (Lockdown) में लाखों शादियां प्रभावित हुई हैं। कोविड-19 से पहले देश में शादियों का सेक्टर काफी अच्छा चल रहा था। मगर कोविड-19 (Covid-19) के कारण लागू लॉकडाउन ने अन्य व्यापार की तरह इस व्यापार को भी प्रभावित किया है। लिहाजा, कई शादियों की डेट आगे बढ़ गई तो कई शादियां कैंसिल हो गईं। ऑनलाइन वेडिंग वेबसाइट 'वेडिंग.इन' के अनुसार, करीब 80 फीसदी इवेंट्स लॉकडाउन के दौरान कैंसिल किए गए हैं। वहीं तीन हजार से ज्यादा इवेंट्स अगली तारीख के लिए टाल दिए गए हैं। कुल मिलाकर कोविड-19 महामारी ने अरबों रुपए के शादियों के कारोबार को प्रभावित किया है। हालांकि, अब भारतीय शादी इंडस्ट्री रिकवरी की ओर है। लाखों शादियों की डेट आगे के लिए टाल दी जा रही है। लेकिन लोग पहले से ही पूरी तैयारी कर रहे हैं। शादी के वेन्यू से लेकर अन्य जानकारियां जुटाई जा रही हैं। लोग पहले से ही वेन्यू सिलेक्शन आदि तैयारियों की जानकारी जुटा रहे हैं। सबसे ज्यादा बुकिंग नवंबर में शादी के लिए हो रही है।

शादी कारोबार में रिकवरी के सकारात्मक नतीजे

वेडिंग. इन के सीईओ संदीप लोढ़ा के अनुसार, शादी कारोबार में धीरे-धीरे सकारात्मक नतीजे देखने को मिल रहे हैं। लॉकडाउन के शुरुआती दौर में शादी कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ था मगर अब धीरे-धीरे इवेंट बुकिंग के लिए कॉल आ रहे हैं। सबसे ज्यादा बुकिंग नवंबर माह के लिए मिल रही है। लगातार बुकिंग का नंबर मासिक आधार पर 10-15 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल के मुकाबले इस साल शादी के लिए बुक किए गए इवेंट्स बेहद कम हैं। लेकिन हमारा अनुमान है कि मांग में धीरे-धीरे और वृद्धि होगी। इतना ही नहीं 2021 में लीड्स और शादियों के लिए ग्राहकों की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी।

बिन मुहूर्त के शादी करने को राजी

शादियों के लिए सबसे ज्यादा डिमांड दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद से आ रही है। बेस्ट वेडिंग की डिमांड इतनी बढ़ गई है कि लोग बिना मुहूर्त के भी शादी करने को राजी हो रहे हैं। बेस्ट वेडिंग वेन्यू से लेकर स्टाइलिश कपड़े तक के लिए एडवांस बुंकिंग हो रही है। यहां तक कि स्टाइलिश मास्क को लेकर भी पूछताछ हो रही है। सीईओ संदीप लोढ़ा ने कहा कि क्योंकि सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए गेस्ट लिस्ट को सीमित रखने का निर्णय किया गया है, इसलिए भी लोग महंगे से महंगे वेडिंग वेन्यू बुक करने से कतरा नहीं रहे हैं। अमूमन एक साधारण सी शादी में भी हजार-दो हजार मेहमान आते हैं। मगर सोशल डिस्टेंसिंग के नियम और विभिन्न राज्यों में सरकारी दिशानिर्देशों के अनुरूप, 50 से 100 लोगों के बीच एक सीमित गेस्ट आ सकते हैं। इसके चलते शादियों का बजट अपने आप छोटा हो गया है। पहले जहां एक शादी पर पांच से सात लाख तक खर्च आता था वहीं खर्च अब दो से तीन लाख पर आकर सिमट गया है।

रस्मों की डिजिटल स्ट्रीमिंग की डिमांड

अधिकतर शादियां 2021 तक के लिए टाल दी गई हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगले साल खूब शादियां होनी हैं। अधिकांश मैरिज वेन्यू अगले साल अप्रैल से अक्टूबर तक के लिए बुक हो चुके हैं। हालांकि, शादियों में ज्यादा गेस्ट नहीं आ सकते हैं। इसलिए ज्यादातर परिवार के सदस्यों और दोस्तों के लिए रस्मों की डिजिटल लाइव स्ट्रीमिंग यानी कि वर्चुअल सेलिब्रेशन की भी डिमांड कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: चर्चित विधायक विजय मिश्रा की पत्नी घर से लापता, गनर ने दी पुलिस को जानकारी

Corona virus COVID-19
Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned