यूपी में इस रविवार को भी खुली रहेंगे बैंक, जानें क्या है आरबीआई (RBI) का मुख्य उद्देश्य

यूपी में इस रविवार को भी खुली रहेंगे बैंक, जानें क्या है आरबीआई (RBI) का मुख्य उद्देश्य

Neeraj Patel | Publish: Mar, 27 2019 11:46:17 AM (IST) | Updated: Mar, 27 2019 11:46:18 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

यूपी में भी 31 मार्च दिन रविवार को कर सकेंगे RTGS और NEFT सहित सभी तरह के ऑनलाइन ट्राजेक्शन (Online Transaction), जानिए कितने बजे तक खुली रहेंगी बैंक शाखाएं

 

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में भी भारतीय रिजर्व बैंक (Bhartiya Rijarv Bank) ने सरकारी लेन देन करने वाली सभी बैंक शाखाओं को 31 मार्च दिन रविवार को भी खोलने के आदेश दिए हैं। वित्तीय वर्ष की आखिरी तारीख को रविवार होने के कारण पूरे यूपी में सरकारी लेन-देन वाली सभी सरकारी बैंक खुले रहेंगे। इसके साथ ही 30 मार्च को भी सभी बैंक शाखाएं शाम 8 बजे तक खुली रहेंगी और RTGS और NEFT सहित सभी तरह के ऑनलाइन ट्राजेक्शन की प्रक्रिया भी लम्बे तक चालू रहेगी। जिससे सरकारी लेन देन करने वालों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

1 अप्रैल से लागू हो जाएंगे नए नियम

यूपी में सरकारी लेन देन करने वालों की सुविधा के लिए वित्तीय वर्ष की आखिरी तारीख 31 मार्च दिन रविवार को भी बैंक शाखाएं खुली रहेंगी। जिससे लेन देन करने वाले वित्तीय वर्ष के पूरे कार्य को इसी माह में निपटा सकें क्योंकि 1 अप्रैल से नया वित्तीय वर्ष शुरू हो जाएगा और यूपी सहित सभी राज्यों की बैंकों में आरबीआई के नए नियम लागू हो जाएंगे। इसलिए भारतीय रिजर्व बैंक ने फैसला लिया है कि इस वित्तीय वर्ष के सभी लेन देन की प्रक्रिया इसी माह में पूरी कर ली जाए।

वित्तीय वर्ष के कार्यों को पूरा करने का है उद्देश्य

आरबीआई का मुख्य उद्देश्य इस साल के वित्तीय वर्ष के सभी सरकारी लेन देन की प्रक्रिया को इसी माह में ही पूरा करना है। इसलिए इस माह की आखिरी तारीख 31 मार्च दिन रविवार को खोलने का फैसला लिया हैं। साथ ही यूपी की बैकों में भी सभी बैंक 30 मार्च को 8 बजे तक और 31 मार्च को 6 बजे तक खोलने का आदेश जारी किया गया हैं।

देर शाम तक करना होगा कार्य

बता दें कि यूपी में सरकारी लेन देन वाली बैंकों के सभी अधिकारियों को समय से पहुंचना होगा और देर शाम तक कार्य करना होगा। जिससे RTGS और NEFT सहित अन्य कई तरह के ऑनलाइन ट्राजेक्शन प्रक्रिया के माध्यम से कार्यों को पूरा करने की कोशिश की जा सकें और वित्तीय वर्ष के सभी कार्यों को इसी माह में पूरा किया जा सकें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned