scriptwho will be bjp state president after swatantra dev singh | कौन होगा यूपी बीजेपी का नया अध्यक्ष, ब्राह्मण चेहरे को मिल सकती है कमान, चर्चा में श्रीकांत शर्मा का नाम | Patrika News

कौन होगा यूपी बीजेपी का नया अध्यक्ष, ब्राह्मण चेहरे को मिल सकती है कमान, चर्चा में श्रीकांत शर्मा का नाम

स्वतंत्र देव सिंह चूंकि कैबिनेट मंत्री बन चुके हैं लिहाजा यह तय है कि संगठन की कमान यानि प्रदेश अध्यक्ष किसी और को बनाया जाएगा। पार्टी अब किसे इन पद के लिए उचित मानती है ये तो नाम सामने आने के बाद ही पता चलेगा लेकिन इतना तो तय है कि अध्यक्ष पद पर नियुक्ति से पहले बीजेपी जातिगत और क्षेत्रीय समीकरण को ज़रूर ध्यान में रखेगी।

लखनऊ

Published: March 28, 2022 05:19:53 pm

स्वतंत्रदेव सिंह के कैबिनेट मंत्री बन जाने के बाद से यूपी बीजेपी का अगला प्रदेश अध्यक्ष कौन होगा इस बात को लेकर चर्चा और मंथन दोनों शुरू हो गया है। प्रबल दावेदारी की बात करें तो दो नाम मुख्य चर्चा का विषय बने हुए हैं, दिनेश शर्मा और श्रीकांत शर्मा। आपको बता दें कि डॉ दिनेश शर्मा, सीएम योगी की पहली सरकार में डिप्टी सीएम थे जबकि श्रीकांत शर्मा ऊर्जा मंत्री थे। 51 साल के श्रीकांत शर्मा मथुरा और श्रीकृष्ण जन्मभूमि के मुद्दे को लेकर हमेशा सक्रिय रहे हैं और तेज-तर्रार नेता माने जाते हैं। जिस वजह से इस बात की प्रबल संभावना है कि यूपी बीजेपी की कमान इन्हें सौंपी जा सकती है।
कौन होगा यूपी बीजेपी का नया अध्यक्ष, ब्राह्मण चेहरे को मिल सकती है कमान
कौन होगा यूपी बीजेपी का नया अध्यक्ष, ब्राह्मण चेहरे को मिल सकती है कमान
दरअसल, 25 मार्च को मंत्रियों की शपथ लेने में स्वतंत्रदेव सिंह का भी नाम शामिल था। अब स्वतंत्रदेव सिंह चूंकि कैबिनेट मंत्री बन चुके हैं लिहाजा यह तय है कि संगठन की कमान यानि प्रदेश अध्यक्ष किसी और को बनाया जाएगा। पार्टी अब किसे इन पद के लिए उचित मानती है ये तो नाम सामने आने के बाद ही पता चलेगा लेकिन इतना तो तय है कि अध्यक्ष पद पर नियुक्ति से पहले बीजेपी जातिगत और क्षेत्रीय समीकरण को ज़रूर ध्यान में रखेगी।
यह भी पढ़ें

Yogi Government 2.0: यूपी के 20 मंत्रियों पर गंभीर आपराधिक मुकदमे, 39 करोड़पति, 9 मंत्री ग्रैजुएट तक नहीं

आपको बता दें कि 2017 विधानसभा चुनाव से पहले केशव प्रसाद मौर्य को यूपी बीजेपी की कमान सौंपी गयी थी तो वहीं 2022 विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी स्वतंत्रदेव सिंह पर भरोसा जताया। ये दोनों ही पिछड़ा वर्ग से ताल्लुक रखते थे। और दोनों ही विधानसभा चुनावों में परिणाम पार्टी के पक्ष में रहा। जबकि 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले लक्ष्मीकांत बाजपेयी और 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी डा. महेंद्रनाथ पांडेय को यूपी बीजेपी की कमान सौंपी गयी थी। ये दोनों चेहरे अगड़ी जाति से आते थे और पार्टी का ब्राह्मण चेहरा थे। इन चुनावों में भी पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया। अब सवाल ये है कि 2024 को ध्यान में रखकर रणनीति तैयार कर रही बीजेपी, पार्टी अध्यक्ष पद के लिए किस वर्ग के चेहरे को यूपी की कमान सौंपेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.