लखनऊ। कहते हैकि किसी काम को करने के लिए एक अच्छी सोच , सच्ची लगन ,और उसके साथ ईमानदारी होनी चाहिए तभी आप किसी कार्य को सही ठंग से कर सकेंगे। पत्रिका अभियान के तहत पर्यावरण और विभिन्न मुद्दों पर जागरूकता अभियान चलाते रहते हैं इसी कड़ी में नवाबों के शहर में सबसे पुरानी धरोहर गोमती नदी को लेकर अभियान चल रहा हैं इस अभियान में बहुत से लोग जुड़ चुके है जो अपने अपने क्षेत्र में गोमती नदी को बचाओ अभियान को बढ़ावा दे रहे हैं।


झूलेलाल वाटिका सनातन घाट पर गोमती की सफाई


सनातन महासभा के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने सुबह झूलेलाल वाटिका सनातन घाट पर गोमती की सफाई कर गोमती बचाव अभियान की शुरुआत की। संयोजक डॉ. प्रवीण की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने गोमती नदी में उतरकर सफाई की।

संयोजक डॉ. प्रवीण ने बताया कि इस गोमती सफाई कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओ ने गोमती से पॉलिथीन, देवी देवताओ की मूर्तियां भी निकाली गयी और साथ ही तमाम मलवा निकाला गया। उन्होंने कहा कि जनता के टैक्स का 1517 करोड़ खर्च होने बाद भी गोमती मां गन्दा नाला बन चुकी है।

उन्होंने बताया कि आज के सफाई अभियान में शासन, प्रशासन का कोई सहयोग नहीं मिला। पत्रिका और सनातन महासभा शीघ्र ही पर्यावरण के तहत नदी किनारे किये गए निर्माण कार्यो पर रोक हेतु संघर्ष करेगी और 1100 वृक्षो को भी 28 जून से लगाएगी। साथ ही सभी एस. टी.पी. प्लांट्स चालू करने हेतु आंदोलन चलाएगी यदि शासन प्रशासन गोमती को स्वच्छ करने में सहयोग नहीं करती तो गोमती का पानी सभी अधिकारियो और विधायको के घर पर भेजा जायेगा।

अभियान में शामिल हुए

गोमती बचाओं अभियान में डॉ. प्रवीण के साथ संतोष पाण्डेय, पवन सिंह, विकास मिश्र, कमल कपूर, अभिषेक श्रीवास्तव, कंचन तिवारी, शालिनी गौर, .ध्रुव, कोमल, ओ.पी. शुक्ला, विपिन भारत, सोनी सिंह, मनोज दास, मनोज सिंह, शोभित आदि शामिल रहे।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned