विश्व गौरैया दिवस छात्र छात्राओं ने चलाया जागरूकता अभियान

विद्यार्थियों द्वारा इस तरह की पहल निश्चित रूप से इनके संरक्षण में सहायक सिद्ध होगी।

लखनऊ ,इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय क्षेत्रीय केन्द्र लखनऊ में स्थापित राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई के स्वयंसेवकों द्वारा विश्व गौरैया दिवस की पूर्व संध्या पर गौरैया के संरक्षण हेतु इग्नू क्षेत्रीय लखनऊ की वाटिका में स्वनिर्मित गौरैया गृह स्थापित किये गये। स्वयं सेवकों ने इन घरों का निर्माण करने के लिए अपशिष्ट पदार्थों का प्रयोग किया।

इस अवसर क्षेत्रीय निदेषक डॉ0 मनोरमा सिंह ने कहा कि यह दिवस दुनियां में गौरैया पक्षी के संरक्षण हेतु लोगों को जागरूक करने लिए मनाया जा रहा है। डॉ0 सिंह ने बताया कि गौरैया की संख्या में दिन पर दिन कमी आती जा रही है. अगर इन्हें संरक्षित करने हेतु सामूहिक प्रयास नहीं किया गया, तो इस पक्षी की प्रजाति विलुप्त होने के कगार पर पहुँच जायेगी। विद्यार्थियों द्वारा इस तरह की पहल निश्चित रूप से इनके संरक्षण में सहायक सिद्ध होगी।

डॉ0 कीर्ति विक्रम सिंह, सहायक क्षेत्रीय निदेषक एवं कार्यक्रम अधिकारी (एन0एस0एस0) ने कहा कि गौरैया ज्यादातर छोटे-2 झाड़ीनुमा पेड़ो में रहती है, इसलिए हम सभी को ऐसे पेड़ अपने घरों में लगाने चाहिए और गौरैया तथा अन्य पक्षियों के लिए दाना-पानी की व्यवस्था करनी चाहिए। इस तरह इनकी संख्या में अवश्य ही वृद्धि होगी। उन्होनें राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों द्वारा अपशिष्ट पदार्थों से निर्मित गौरेया घरों के निर्माण एवं उन्हें स्थापित करने की पहल के लिए बधाई दी।

नोवल कोरोना (कोविद-19) को दृष्टिगत रखते हुए क्षेत्रीय केन्द्र द्वारा विश्व गौरैया दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाली कार्यशाला को टाल दिया गया है।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned