UP Budget 2017 : 500 करोड़ खर्च कर पांच जिला अस्पतालों को बनाया जायेगा मेडिकल कालेज

UP Budget 2017 : 500 करोड़ खर्च कर पांच जिला अस्पतालों को बनाया जायेगा मेडिकल कालेज
budget 2017

पीजीआई लखनऊ में ट्रामा सेंटर का संचालन और एम्स गोरखपुर में स्वतंत्र फीडर की स्थापना की जायेगी।

लखनऊ. यूपी सरकार ने विधानसभा में अपने बजट में चिकित्सा को लेकर कई प्रमुख घोषणाएं की है। पीजीआई लखनऊ में ट्रामा सेंटर का संचालन और एम्स गोरखपुर में स्वतंत्र फीडर की स्थापना की जायेगी।

- लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में ट्रामा सेंटर के संचालन के लिये 25 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।

- लखनऊ के किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में महामारी नियंत्रण और नेशनल मेंटल हेल्थ प्रोग्राम सहित अन्य योजनाओं पर 9 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।

- संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में टर्शरी केयर कैंसर केंद्र की स्थापना पर 11.43 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

- राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा की स्थापना के लिए 15 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

- राजकीय मेडिकल कालेजों में हॉस्पिटल मैनेजमेंट सिस्टम की स्थापना 10 करोड़ रूपये खर्च होंगे। आगरा, कानपुर, इलाहाबाद, झाँसी और गोरखपुर के मेडिकल कालेजों में हॉस्पिटल मैनेजमेंट सिस्टम की स्थापना की जाएगी।

- पांच जिला चिकित्सालयों को उच्चीकृत कर मेडिकल कालेज बनाया जाएगा जिस पर 500 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

- सुपर स्पेशियलिटी बाल चिकित्सालय एवं पोस्ट ग्रेजुएट शैक्षणिक संस्थान नोएडा में उपकरणों की खरीद के लिए 15 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

- एम्स गोरखपुर में बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लिए स्वतंत्र फीडर की स्थापना की जाएगी। इस पर 36 करोड़ रूपये खर्च होंगे।

-शहरी चिकित्सालयों में अग्निशमन व्यवस्था के लिए 20 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

- जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर के भवन निर्माण पर पांच करोड़ रूपये खर्च करने की व्यवस्था की गई है।

- ग्रामीण क्षेत्र के चिकित्सालयों और औषधालयों में अग्निशमन व्यवस्था के लिए 30 करोड़ रूपये की व्यवस्था की गई है।  

- वेक्टर जनित रोगों पर नियंत्रण के लिए 20 करोड़ रूपये की व्यवस्था की गई है।

- जन्म मृत्यु सम्बन्धी आंकड़ों के पंजीयन और संग्रहण के लिए 4 करोड़ 50 लाख रूपये की व्यवस्था की गई है।                                                                                                                      
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned