डोर टू डोर सर्वे, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, प्रभावी सर्विलांस और लॉकडाउन से रुकेगा कोरोना संक्रमण

- उत्तर प्रदेश में अब 51 हजार से अधिक लोग Covid-19 संक्रमित पाये गये हैं
- डोर टू डोर सर्वे, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, प्रभावी सर्विलांस और लॉकडाउन से रोकेंगे Corona

By: Hariom Dwivedi

Updated: 20 Jul 2020, 05:57 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों (Corona Patient) का आंकड़ा 51 हजार पार पहुंच चुका है। हर दिन मरीजों के बढ़ती संख्या चिंताजनक है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने डोर-टू-डोर सर्वे, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, इंटिग्रेटेड कमांड सेंटर और लॉकडाउन (Lockdown) जैसे चार महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं जिनसे कोरोना के प्रसार (Covid 19) को रोकने में काफी मदद मिलेगी। उन्होंने लोगों से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने के निकलने की अपील की है। साथ ही अफसरों को कोताही न बरतने के सख्त निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 की बैठक में अफसरों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि सभी कोविड व नॉन कोविड अस्पतालों में आवश्यक सुविधाओं के साथ ही डॉक्टरों व दवाई की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। अस्पतालों की साफ-सफाई के साथ सैनेटाइजेशन भी कराया जाए। अस्पतालों में एंबुलेंस, व्हीलचेयर, स्ट्रेचर और ऑक्सीजन की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। सीएम ने कहा कि सभी जरूरतमंदों को खाद्यान उपलब्ध कराया जाए। जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं, उनके राशन कार्ड तत्काल बनाए जाएं और राशन उपलब्ध कराया जाए। कोरोना के खिलाफ जंग में हम सबको एकजुटता दिखानी होगी।

इंटिग्रेटेड कमांड सेंटर
राज्य सरकार हर जिले में इंटिग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनाने के निर्देश दिये हैं, ताकि संक्रमितों की निगरानी ज्यादा बेहतर ढंग से हो सके। कमांड सेंटर्स को संक्रमित की तुरंत जानकारी दी जाएगी, जिसके बाद पीड़ितों की ट्रैकिंग के साथ उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी की जा सकेगी। सेंटर्स पर कोविड मरीजों की पहचान और फोन नंबर डेटाबेस में सुरक्षित रखा जाएगा।

डोर-टू-डोर सर्वे
कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए मुख्यमंत्री ने सभी 75 जिलों में डोर टू डोर सर्वे करने के निर्देश दिये हैं। इससे जहां कोरोना के छिपे केस सामने बाहर आएंगे वहीं, श्वसन जैसी उन बीमारियों से पीड़ित मरीजों की जानकारी भी इकट्ठा की जा सकेगी, जिन पर कोरोना संक्रमण का ज्यादा खतरा है। सीएम ने डोर-टू-डोर सर्वे के कार्य में कोताही न बरतने के निर्देश दिये हैं।

वीकेंड लॉकडाउन
कोरोना संक्रमण की रफ्तार थामने और सैनेटाइजेशन के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन लागू किया है। इसके तहत शनिवार और रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा, सिर्फ अहम सेवाओं से जुड़े लोग ही काम पर जाएंगे। इस दौरान सभी कंटेनमेंट जोन में सैनेटाइजेशन का काम किया जाएगा।

दफ्तरों में कोविड हेल्प-डेस्क
सीएम योगी ने 20 जुलाई से सभी सरकारी व निजी दफ्तरों में हेल्प डेस्क शुरू करने के निर्देश दिये हैं। जेल व राजस्व अदालतों में भी हेल्प डेस्क बनाई जाएंगी। अब दफ्तरों में थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर, मास्क और सैनिटाइजर भी जरूरी है, निर्देशों को नहीं मानने वाले पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : यूपी में सबसे ज्यादा हैं कोरोना टेस्टिंग लैब, हर दिन हो रही हैं 45 हजार जांचें

उप्र में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग लैब
देश की कुल कोरोना टेस्टिंग लैबोरेट्रीज की संख्या के मामले में उत्तर प्रदेश का नौवां हिस्सा है। स्वास्थ्य विभाग के पास आये आईसीएमआर के आंकड़े बताते हैं कि देश में 1253 लैबोरेट्री हैं। इनमें 885 सरकारी और 368 निजी क्षेत्र की लैबोरेट्री हैं वहीं, यूपी में कुल 141 लैबोरेट्री हैं जिनमें 120 सरकारी और 21 प्राइवेट लैब हैं। सभी जिला अस्पतालों में कुल ट्रूनेट मशीनें 85 हैं, जबकि निजी क्षेत्र में 10 हैं। प्रदेश में हर दिन करीब 45000 से अधिक टेस्टिंग हो रही है। मुख्यमंत्री ने इसे बढ़ाकर 50 हजार करने के निर्देश दिये हैं।

कोरोना अपडेट
कुल केस- 51171
नये केस- 1924
एक्टिव- 18256
डिस्चार्ज- 29845
मौत- 1146

विपक्षी दलों ने सरकार को घेरा
उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण पर विपक्षी दलों ने योगी सरकार को घेरा है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव जहां क्वारंटाइन सेंटर्स की बदहाली पर सवाल उठा रहे हैं, वहीं कांग्रेस महासचिव ने कोविड अस्पतालों में बेड फुल होने पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि अब टेपरिकॉर्डर जैसी चलने वाली प्रेसवार्ताओं से यूपी सरकार का काम नहीं चलेगा। कोरोना की स्थिति पर ध्यान देना होगा। बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि यूपी में बढ़ता कोरोना संक्रमण जुगाड़ से नहीं बल्कि उचित व्यवस्था से नियंत्रित हो सकता है।

यह भी पढ़ें : कोरोना संक्रमण पर विपक्ष ने सरकार को घेरा, प्रियंका ने कहा- अब टेपरिकॉर्डर जैसी चलने वाली प्रेसवार्ताओं से काम नहीं चलेगा

Corona virus Corona Virus treatment coronavirus
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned