सीएम योगी आदित्यनाथ का नई लग्जरी कार लेने से इन्कार, बोले- Akhilesh Yadav की गाड़ी करूंगा इस्तेमाल

सीएम योगी आदित्यनाथ का नई लग्जरी कार लेने से इन्कार, बोले - Akhilesh की गाड़ी करूंगा इस्तेमाल

लखनऊ. सादगी पसंद यूपी के सीएम Yogi Adityanath ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वे सरकारी सुविधाओं का आनंद उठाने के लिए मुख्यमंत्री नहीं बने हैं। योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के उस प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने सीएम की फ्लीट के लिए साढ़े तीन करोड़ रुपए की दो नई मर्सिडीज खरीदने की अनुमति मांगी थी। 

उन्होंने प्रस्ताव को नकारते हुए कहा कि कहा कि उन्हें पूर्व सीएम Akhilesh Yadav की गाड़ी से चलने में कोई परेशानी नहीं है। जनता की गाढ़ी कमाई जनता के हित में खर्च करना उनका उद्देश्य है। वे सीएम जनता की सेवा करने के लिए बने हैं,  न कि सरकारी सुविधाओं का लाभ लेने के लिए। दरअसल राज्य संपत्ति विभाग ने सीएम की फ्लीट के लिए मर्सिडीज बेंज की दो नई एसयूवी खरीदने का प्रपोजल था, लेकिन सीएम ने उसे खारिज कर दिया। बता दें कि मायावती एक करोड़ की लैंड-क्रूजर से चलती थीं। अखिलेश यादव डेढ़ करोड़ की मर्सिडीज का इस्तेमाल करते थे।


मंत्रियों के लिए फॉर्च्यूनर खरीदने को पहले मना कर चुके हैं योगी 

इससे पहले योगी अपने कैबिनेट मिनिस्टर्स के लिए 30 लाख रुपए से ज्यादा की फॉर्च्यूनर खरीदने के लिए राज्य संपत्ति विभाग को मना कर चुके थे। सीएम ने फॉर्च्यूनर की जगह इनोवा खरीदने के आदेश दिए थे। 

नेताजी खुद लौटाएं तो ठीक,  वरना  मांगी नहीं जाएगी मर्सिडीज

अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में सरकारी पैसों से दो मर्सिडीज एसयूवी खरीदी थीं। इसमें से एक गाड़ी उन्होंने अपने पिता मुलायम को दे दी थी। चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने पुरानी मर्सिडीज सीएम स्टाफ को लौटा दी, लेकिन मुलायम सिंह ने अब तक कार नहीं लौटाई है। सूत्रों के मुताबिक, जब अफसरों ने मुलायम से गाड़ी वापस मांगने की बात उठाई तो योगी ने कहा कि नेताजी काफी बुजुर्ग हैं, उनसे गाड़ी न मांगी जाए। अगर वो खुद लौटा देते हैं तो ठीक है।

सादगी की मिसाल हैं योगी: सिंह 

बीजेपी के पूर्व मंत्री आईपी सिंह ने कहा कि सादगी के मामले में सीएम योगी की मायावती या मुलायम से तुलना करना योगी आदित्यनाथ का मान है। उन्होंने तो कालिदास मार्ग के सरकारी आवास से दर्जनों स्प्लिट एसी तक हटवा दिए हैं। वे ज्यादातर बिना एसी के रहते हैं। सिर्फ मेहमानों के लिए उनके दफ्तर और ड्राइंग रूम में एसी लगे हैं।
BJP
Show More
Ruchi Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned