एकाएक तैयार हुए मस्जिद और मदरसों पर योगी सरकार अलर्ट, टेरर फंडिंग की आशंका में रखी जा रही खुफिया नजर

उत्तर प्रदेश के इंडो-नेपाल सीमा से सटे जिलों में बनी मस्जिदों और मदरसों में टेरर फंडिंग की आशंका के बाद योगी सरकार ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं

By: Karishma Lalwani

Published: 07 Mar 2020, 12:47 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के इंडो-नेपाल सीमा से सटे जिलों में बनी मस्जिदों (Maszid) और मदरसों में टेरर फंडिंग की आशंका के बाद योगी सरकार ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं। दरअसल, सीमा से सटे जिलों में एकाएक 257 मस्जिद और मदरसे तैयार किए गए हैं। इन सभी में टेरर फंडिंग की आशंका जताई गई है। मामले में उत्तर प्रदेश शासन की रिपोर्ट आने के बाद एडीजी जोन, गोरखपुर ने निगरानी के आदेश दिए हैं। वहीं, एडीजी जोन दावा शेरपा ने सीमा के आसपास के जिलों में पुलिस की सक्रियता बढ़ा दी है। संदिग्ध स्थानों की सूची बनाकर पुलिस नजर रख रही है।

संदिग्ध की गतिविधियों पर निगरानी

होली का त्योहर करीब है। ऐसे में किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए पुलिस को एक-एक मस्जिद, मदरसे की निगरानी करने को कहा गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई है। सीमा से जोन के छह जिले कुशीनगर, श्रावस्ती, बहराइच, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर और महाराजगंज में पुलिस सक्रियता बढ़ाई गई है। इन जिलों में अचानक बढ़ी संख्या में मस्जिद और मदरसे बनने से हड़कंप मचा हुआ है। इसलिए खुफिया रिपोर्ट आने के बाद एसएसबी और पुलिस ने सक्रियता बढ़ा दी है।

एडीजी जोन दावा शेरपा ने कहा है कि 257 मस्जिद और मदरसों के बारे में जानकारी मिलने के बाद इनसे जुड़ी गतिविधियों की जांच के आदेश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें: सीएए हिंसा पर योगी सरकार की सख्त कार्रवाई, पोस्टर लगवाने के बाद उपद्रवियों के गैर जमानती वारंट जारी करने की दी अर्जी

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned