यूपी की सीमा में आते ही पुलिस निगरानी में आ जाएगी कोरोना वैक्सीन, योगी सरकार ने बनाया टीकाकरण का ये रोडमैप

कोरोना वायरस की वैक्सीन के लिए उत्तर प्रदेश में बनाए गए करीब 1300 कोल्ड चेन प्वॉइंट सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहेंगे।

लखनऊ. कोरोना वायरस की वैक्सीन के लिए उत्तर प्रदेश में बनाए गए करीब 1300 कोल्ड चेन प्वॉइंट सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहेंगे। जैसे ही वैक्सीन प्रदेश की सीमा में पहुंचेगी तुरंत ही यूपी पुलिस उसे अपनी निगरानी ले लेगी। ठीक ईवीएम की तरह की कोरोन की वैक्सीन को पुलिस की कड़ी सुरक्षा में टीकाकरण केंद्र तक पहुंचाया जाएगा। हालांकि चुनाव में तो कुछ ही बूथ अतिसंवेदनशील होते हैं लेकिन कोरोना टीकाकरण का प्रदेशभर का हर केंद्र अतिसंवेदनशील बूथ की श्रेणी में रखा जाएगा और उसकी उसी तरह सुरक्षा की जाएगी।

ऐसी है योगी सरकार की तैयारी

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना वैक्सीन के प्रदेश की सीमा से सभी टीकाकरण केंद्र तक पहुंचाने का रोड मैप भी तैयार कर लिया है। इसके लिए सभी जिलों के जिलाधिकारियों को टीकाकरण केंद्र पर सीसीटीवी की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। कई जिलों में तो सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य भी शुरू भी कर दिया गया है। इसके अलावा कोल्ड चेन प्वॉइंट पर मैनपावर और पावर बैकअप भी रखा जाएगा। प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन सोमवार और शुक्रवार के दिन किया जाएगा। वैक्सीनेशन जनवरी में शुरू होने की संभावना को देखते हुए तैयारी की जा रही है। कोरोना वैक्सीनेशन की दो डोज 28 दिन के अंतर में लगाई जाएंगी।

वैक्सीनेशन में इनकी भी ली जाएगी मदद

कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण की तैयारियों को प्रदेश सरकार ने और ज्यादा पुख्ता बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए वैक्सीनेटर्स टीका लगाने वालों की संख्या को भी बढ़ाया जा रहा है। सरकारी और निजी दोनों ही सेवाओं से वैक्सीनेटर्स को लिया जा रहा है। कर्मचारियों की कमी न हो इसके लिए सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कर्मियों का बैकअप भी टीकाकरण केंद्रों पर रखा जाएगा। वैक्सीनेटर्स के रूप में एमबीबीएस, बीडीएस, स्टाफ नर्स बीएससी नर्सिंग, एएनएम, जीएनएम, फार्मासिस्ट को प्रशिक्षित किया जा रहा है। नर्सिंग छात्र-छात्राएं और इंटर्न, मेडिकल छात्र-छात्राएं और इंटर्न को भी टीकाकरण के कार्यक्रम से जोड़ा जा रहा है। इसके अलावा अधिकारियों ने स्वयं सेवकों को भी प्रशिक्षित करने की सलाह दी है। जिससे उनकी मदद भी इस काम में ली जा सके।

coronavirus
Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned