गोरखनाथ मंदिर के बाद अब अयोध्या में राममंदिर के रास्ते में पड़ने वाले घरों को खरीदने की तैयारी

अयोध्या में रामजन्मभूमि अयोध्या धाम तक जाने के लिये सआदतगंज से अयोध्या धाम तक की 13 किमी की सड़क होगी फोरलेन। रास्ते में पड़ने वाले मकान खरीदे जाएंगे। कैबिनेट बाई सर्कुलेशन के जरिए लिया गया निर्णय, जल्द सर्व होगी नोटिस।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. योगी सरकार गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Mandir) के बाद अब अयोध्या (Ayodhya) में भी राम मंदिर (Ram Temple) के रास्ते में पड़ने वाले घरों की खरीदने की तैयारी में है। ये मकान उस सड़क के रास्ते में पड़ रहे हैं जो अयोध्या धाम तक पहुंच मार्ग योजना के तहत बनाी जानी है। इस सड़क को चौड़ा कर उसका सुंदरीकरण होगा। रास्ते में पड़ने वाले मकानों को सरकार उनके मालिकों से खरीदकर उचित मुआवजा देगी। कैबिनेट बाईसर्कुलेशन (Cabinet Bycirculation) के जरिये इसको मंजूरी भी मिल गई है। सुरक्षा की दृष्टि से योगी सरकार गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर से सटे 11 घरों को भी खाली करा रही है। प्रशासन के मुताबिक परिवारों की सहमति से घर को खाली कराया जाएगा। उन्हें पूरा मुआवजा दिया जाएगा और दूसरी जगह बसाया भी जाएगा।


श्रद्घालुओं की आसानी के लिये लखनऊ से अयोध्या आने पर सआदतगंज से अयोध्या धाम तक 13 किलोमीटर लम्बी सड़क को फोरलेन व उसका सुंदरीकरण किया जाएगा। सड़क अलग-अलग जगह 24, 30 और 40 मीटर तक होगी। इसके लिये रास्ते में पड़ने वाले मकान खरीदे जाएंगे। रामजन्मभूमि तक पहुंचने के लिये दो और सड़कें बिड़ला धर्मशाला से रामजन्मभूमि तक और दूसरी शंकरहाट से हनुमानगढ़ी (Hanumangarhi) होते हुए रामजन्मभूमि तक बनेगी। कैबिनेट बाईसर्कुलेशन के जरिये दोनों सड़कों के दोनों प्रस्तावों पर मुहर लग गई। ये सड़कें 603 करोड़ रुपये में बनाई जाएंगी। 300 करोड़ के बजट का प्रावधान कर दिया गया है, जिसमें मुआवजे की राशि भी शामिल है। कंसल्टेंट एजेंसी द्वारा इस पूरी परियोजना का एक विजय डाॅक्यूमेंट भी तैयार कर लिया गया है। प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार भी प्रस्तावित सड़क निर्माण के लिये मुआयना कर चुके हैं।


बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा कड़ी करने के लिये मंदिर के दक्षिण पूर्वी कोने के 11 घरों को भी प्रशासन खाली कराने की तैयारी में है। प्रशासन की मानें तो ज्यादातर घरों की सहमति मिल गई है। डीएम विजयेंद्र पांडियन के अनुसार शासन के निर्देश पर गोरखनाथ मंदिर परिक्षेत्र के 11 घर खाली कराए जाने हैं।

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned