अब स्कूलों के प्रधानाचार्यों को मुफ्त टैबलेट बांटेगी योगी सरकार

Yogi government will distribute free tablets to principals of school- उत्तर प्रदेश सरकार छात्रों के साथ-साथ स्कूल के प्रधानाचार्यों को भी मुफ्त टैबलेट बांटेगी। प्रदेश सरकार 2204 सरकारी हाईस्कूल/ इंटर कॉलेजों में भी टैबलेट बांटेगी। इसके साथ ही हर स्कूल को प्रति टैबलेट 10 हजार रुपये भी दिए जाएंगे।

By: Karishma Lalwani

Updated: 20 Sep 2021, 04:48 PM IST

लखनऊ. Yogi government will distribute free tablets to principals of school. उत्तर प्रदेश सरकार छात्रों के साथ-साथ स्कूल के प्रधानाचार्यों को भी मुफ्त टैबलेट बांटेगी। प्रदेश सरकार 2204 सरकारी हाईस्कूल/ इंटर कॉलेजों में भी टैबलेट बांटेगी। इसके साथ ही हर स्कूल को प्रति टैबलेट 10 हजार रुपये भी दिए जाएंगे। इसके लिए दो करोड़ रुपये का खर्च प्रस्तावित है। दरअसल, यूपी सरकार प्रधानाचार्य व स्कूलों को टेक्निकल रूप से मजबूत व आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास कर रही है। शुरू में लर्निंग आउटकम समेत यूपी बोर्ड के रिजल्ट का विश्लेषण भी इसी पर किया जाएगा।

प्रदेश में 2285 सरकारी स्कूल हैं। टैबलेट स्कूल में होने से कई तरह के काम स्कूल स्तर पर ही किए जा सकेंगे। इससे निरीक्षण की रिपोर्ट, अवस्थापना सुविधाएं व अन्य कई तरह की जानकारियों का आदान-प्रदान मिनटों में हो जाएगा। वहीं यूपी बोर्ड द्वारा परीक्षा के अपने स्कूल के रिजल्ट का विश्लेषण भी किया जा सकेगा और अन्य स्कूलों से तुलना भी की जा सकेगी।

यूपी में शहरों के प्राइमरी स्कूलों को मिलेगा अपना भवन

प्रदेश के शहरी क्षेत्र में बने प्राइमरी स्कूलों को अब अपना भवन मिलेगा। प्रदेश सरकार जर्जर अवस्था में पड़े 600 से अधिक विद्यालय जिनमें से कुछ किराए के मकान में भी लिए गए हैं, उनकी अवस्था सुधारने के लिए विद्यालयों को भवन उपलब्ध कराएगी। बेसिक शिक्षा विभाग जल्द ही उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद से विद्यालय के लिए भूमि मांगेगा। जमीन मिलने पर केंद्र या फिर राज्य सरकार से धन आवंटित कराकर निर्माण कराया जाएगा।

दरअसल, स्कूलों का किराया कम होने से मकान मालिक विद्यालय का हिस्सा दुरुस्त नहीं कराते हैं। कई ऐसी जगह हैं जिनकी व्यावसायिक कीमत अधिक है। मकान मालिक चाहते हैं कि स्कूल परिसर खाली हो जाए। बेसिक शिक्षा परिषद ने ऐसे विद्यालयों को चिन्हित करके शासन को प्रस्ताव भेजा। शासन ने प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए जल्द ही आवास विकास परिषद से विद्यालयों के लिए भूमि आवंटन करने का अनुरोध किया है। आवास विकास परिषद जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश देगा। बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने कहा कि सरकार शहरी विद्यालयों को दुरुस्त करने पर गंभीर है। शिक्षकों का संकट भी जल्द दूर होगा।

ये भी पढ़ें: देश में सबसे ज्यादा राशन कार्ड को आधार से जोड़ने वाला प्रदेश बना यूपी

ये भी पढ़ें: यूपी विधानसभा चुनाव से पहले सस्ती हो सकती हैं बिजली दरें, उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष ने की ये मांग

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned