योगी सरकार हर शहर में खोलेगी हेल्थ एटीएम, नहीं काटने पड़ेगे अस्पताल के चक्कर, जानिए क्या है खासियत

- स्मार्ट सिटी योजना के तहत पहले चरण में लखनऊ के 20 मेन पार्कों में लगेंगे एटीएम

By: Neeraj Patel

Published: 17 Feb 2021, 03:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हर शहर में लोगों की स्वास्थ्य संबंधी सुविधा के लिए हेल्थ एटीएम लगाने जा रही है। शहरवासियों को मार्च तक स्मार्ट सिटी योजना के तहत हेल्थ एटीएम की सुविधा मिलने लगेगी। अभी लखनऊ शहर में कुल 100 हेल्थ एटीएम लगाए जाने हैं। इसके लिए जेम पोर्टल पर इसकी खरीद का ऑर्डर भी कर दिया गया है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत हेल्थ एटीएम से टेलीमेडिसिन के जरिए एसजीपीजीआई के विशेषज्ञ चिकित्सकों से इलाज के अलावा बीपी, शुगर व यूरिन आदि की जांच सुविधा भी मिलेगी। हेल्थ एटीएम के बेहतर संचालन के लिए स्वास्थ्यकर्मी भी तैनात किए जाएंगे। इलाज के लिए यहां से मरीजों को दूसरे अस्पतालों को रेफर भी किया जा सकेगा। एटीएम पर मरीज जेनेरिक दवाओं को भी खरीद सकेंगे।

स्मार्ट सिटी योजना के तहत लोगों को इस सुविधा का लाभ देने के लिए यूपी सरकार करीब 10 करोड़ रुपए खर्च करेगी और पहले चरण में प्रदेश की राजधानी लखनऊ शहर में पहले 20 प्रमुख पार्कों में हेल्थ एटीएम लगाने की योजना थी, जिसे बढ़ाकर अब 100 कर दिया गया है। सर्वे कर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। हेल्थ एटीएम के जरिए दी जाने वाली जांच का रियायती शुल्क लिया जाएगा। विशेषज्ञ चिकित्सकों से समय लेकर दिखाने की सुविधा का भी शुल्क रहेगा। मरीजों की जांच और इलाज का रिकॉर्ड भी एसजीपीजीआई के टेलीमेडिसिन हब पर सुरक्षित रखा जाएगा।

200 से अधिक लोगों को मिलेगा रोजगार

शहर में हेल्थ एटीएम लगने से शहर में 200 से अधिक लोगों को रोजगार भी मिलेगा। योजना के तहत हेल्थ एटीएम के संचालन को लेकर 100 नर्स, 100 कंप्यूटर ऑपरेटर व तीन तकनीकी मैनेजर की नियुक्ति भी की जाएगी। उसका खर्च स्मार्ट सिटी योजना से ही किया जाएगा। हेल्थ एटीएम के लिए 100 कंप्यूटर भी स्मार्ट सिटी कंपनी ही खरीदेगी।

चिकित्सकों से कंसल्टेंसी की भी मिलेगी सुविधा

मंडलायुक्त रंजन कुमार ने बताया कि हेल्थ एटीएम की सुविधा जल्द से जल्द शहरवासियों को मिले, इसको लेकर अधिकारियों को तेजी से काम करने का निर्देश दिए गए हैं। हेल्थ एटीएम पर जांच के साथ ही विशेषज्ञ चिकित्सकों से कंसल्टेंसी की भी सुविधा दी जाएगी। नगर आयुक्त अजय द्विवेदी ने बताया कि कोशिश है कि मार्च तक हेल्थ एटीएम लगाने का काम शुरू हो जाए, इसे लेकर अधिकारियों को निर्देश भी दिए गए हैं। एटीएम खरीदने का ऑर्डर भी दे दिया गया है।

क्या होते हैं हेल्थ एटीएम?

हेल्थ एटीएम को प्राइवेट, Walk-in Medical Kiosk के रूप जाना जाता है। इसमें कई तरीके के मेडिकल उपकरण लगे होते हैं, जिसकी मदद से आप बेसिक कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, पल्मोनरी टेस्टिंग, गाइनोकोलॉजी, बेसिक लैबोरेटरी टेस्टिंग करा सकते हैं और इसके साथ ही इसमें इमरजेंसी सुविधाओं के साथ एक मेडिकल अटेनडेंट भी होता है, जो आपकी मदद करता है। यहां से डॉक्टर से परामर्श लेने के लिए समय भी फिक्स किया जा सकता है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned