scriptYogi's new cabinet swearing-in ceremony may be held on 15th | योगी का नया मंत्रिमंडल, 15 को हो सकता है शपथ ग्रहण समारोह, बेबीरानी मौर्य बन सकती हैं डिप्टी सीएम | Patrika News

योगी का नया मंत्रिमंडल, 15 को हो सकता है शपथ ग्रहण समारोह, बेबीरानी मौर्य बन सकती हैं डिप्टी सीएम

बताया जा रहा है कि 15 मार्च को नये मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है। ये बात तो तय है कि नये मंत्रिमंडल में चेहरे भी नये होंगे। कयास लगाये जा रहे हैं कि नया मंत्रिमंडल 2024 के लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाएगा।

लखनऊ

Published: March 11, 2022 06:55:58 pm

उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने इतिहास रचते हुए दमदार वापसी की है। बीजेपी गठबंधन ने 273 सीटों पर जीत हासिल हुई है। अब जनता से लेकर नये विधायकों की नजर सिर्फ इस बात पर है कि किन्हें मंत्री पद मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि 15 मार्च को नये मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है। ये बात तो तय है कि नये मंत्रिमंडल में चेहरे भी नये होंगे। कयास लगाये जा रहे हैं कि नया मंत्रिमंडल 2024 के लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाएगा। दरअसल, लोकसभा चुनावों में करीब 2 साल का वक्त बचा है। इसे देखते हुए नए मंत्रिमंडल में जातीय संतुलन को साधने की चुनौती रहेगी।
योगी का नया मंत्रिमंडल, 15 को हो सकता है शपथ ग्रहण समारोह
योगी का नया मंत्रिमंडल, 15 को हो सकता है शपथ ग्रहण समारोह
इसके पहले की योगी सरकार में कुल 60 मंत्री थे। इसमें से स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान और धर्म सिंह सैनी ने चुनाव से पहले पाला बदल कर सपा का दामन थाम लिया था। वहीं इन चुनावों में योगी सरकार के 11 मंत्री चुनाव हार चुके हैं। जिनमें उप मुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से लेकर, गन्ना मंत्री सुरेश राणा, युवा एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश द्विवेदी, ग्राम्य विकास राज्य मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला जैसे नाम शामिल हैं।इनके अलावा योगी सरकार में उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने इस बार चुनाव नहीं लड़ा था। उनके चुनाव नहीं लड़ने से संकेत यही है कि पार्टी उनका इस्तेमाल संगठन के लिए कर सकती है। ऐसे में उनके दोबारा उप मुख्यमंत्री बनने की संभावना बेहद कम है।
यह भी पढ़ें

किसी को "अपनों" ने छोड़ा तो किसी का दूर हुआ "भ्रम", जानिए उत्तर प्रदेश में करारी हार पर क्या बोले विपक्षी दल

स्वतंत्र देव सिंह को भी मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

संभावना है कि इस बार ओबीसी चेहरे के रूप में स्वतंत्र देव सिंह को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। वहीं दलित चेहरे के रूप में बेबी रानी मौर्य को भी बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। आपको बता दें कि बेबी रानी मौर्य उत्तराखण्ड की राज्यपाल रह चुकी हैं और आगरा ग्रामीण से जीत कर यूपी की विधानसभा पहुंची हैं। बेबी रानी मौर्य के साथ दो चीजें जुड़ी हैं पहली ये कि वो दलित हैं और दूसरी ये कि वो महिला हैं, इन दोनों खासियतों का उन्हें फायदा मिल सकता है।
यह भी पढ़ें

UP Assembly Elections Result 2022: भाजपा की जीत के ये पाँच कारण, लेकिन घोषणा पत्र को लागू करना बड़ी चुनौती

इनके अलावा नौकरी छोड़ राजनीति में आये पूर्व आईपीएस अधिकारी असीम अरूण और ईडी में अधिकारी रह चुके राजेश्वर राव को उनकी प्रशासनिक क्षमता को देखते हुए मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। वहीं अपना दल और निषाद पार्टी को भी नये मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व दिया जा सकता है। वहीं इस बार अपना दल को 12 सीटें मिली हैं। जो उनका अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.