योगी सरकार खत्म करने जा रही है एक और विभाग, कर्मचारियों में मचा हड़ंकप

योगी सरकार खत्म करने जा रही है एक और विभाग, कर्मचारियों में मचा हड़ंकप

Mahendra Pratap Singh | Publish: Jul, 14 2018 12:12:07 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

योगी सरकार हथकरघा और वस्त्र उद्योग विभाग खत्म करने जा रही है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निदेशालय में एक और विभाग खत्म करने की तैयारी कर रहे हैं। जब इसकी सूचना हथकरघा और वस्त्र उद्योग विभाग के कर्मचारियों को लगी तो उनको जोरदार झटका लगा, जिससे यूपी के हथकरघा और वस्त्र उद्योग विभाग के सभी कर्मचारियों में हड़कम्प मचा हुआ है। वह इस सदमे में हैं कि जब विभाग ही खत्म हो जाएगा तो हम लोगों का क्या होगा।

यूपी हैंडलूम का होगा निदेशालय में विलय

इस मामले में हथकरघा और वस्त्र उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी का कहना है कि यूपी हैंडलूम का हथकरघा आने वाले कुछ समय में निदेशालय में विलय कर दिया जाएगा। हथकरघा और वस्त्र उद्योग विभाग के सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के वेतनमान और भत्तों सहित अन्य परेशानियों को भी जल्द ही दूर कर दिया जाएगा। उन्होंने इस संबंध में प्रस्ताव तैयार करने के भी निर्देश भी जारी कर दिए हैं।

हैंडलूम को एक जिला और एक उत्पाद योजना से जोड़ने की तैयारी

हथकरघा और वस्त्र उद्योग विभाग की विधान भवन में हुई समीक्षा बैठक में मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा हैं कि योगी सरकार अब यूपी हैंडलूम को घाटे से उबारने के लिए यह आवश्यक फैसला लिया है। योगी सरकार ने हैंडलूम से बिक्री बढ़ाने के लिए आपसा समन्वय से कार्य करने और हैंडलूम को एक जिला और एक उत्पाद योजना से जोड़ने के निर्देश जारी किए हैं।

500 से 700 करोड़ रुपए के घाटे में यूपी हैंडलूम

बताया जा रहा है कि हैंडलूम के शोरूम में पीपीपी मॉडल के आधार पर एक ओडीओपी काउन्टर लगाने की भी तैयारी की जा रही है। हैंडलूम के पास अभी करीब 500 से 700 करोड़ रुपए की सम्पत्ति हैं। इसके वाबजूद भी यूपी हैंडलूम के अधिकांश शोरूम घाटे की स्थिति में चल रहे हैं। इसलिए जो शेरूम अधिक समय से घाटे में चल रहे हैं उनमें से अभी लगभग 25 शोरूम बंद करने का फैसला किया गया हैं। उन्होंने इस साल उत्पादों की बिक्री को दोगुना करने के लिए टेक्सटाइल उत्पादों को भी शामिल करने का फैसला किया हैं।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned