इस सरकारी अस्पताल में गर्भवती को भर्ती कराने से पहले सोच लें

(Punjab News) लुधियाना सिविल अस्पताल ( child theft from hospital ) में एक सप्ताह में दो बच्चे चोरी होने का मामला सामने आया है। एक बच्चा 7 फरवरी को चोरी हुआ तो दूसरा मंगलवार शाम मगर अभी तक दोनों का कुछ पता नहीं है। और ना ही पुलिस किसी के बारे में कुछ पता लगा सकी है।

By: Yogendra Yogi

Updated: 12 Feb 2020, 06:22 PM IST

लुधियाना(धीरज शर्मा): (Punjab News) लुधियाना सिविल अस्पताल ( child theft from hospital ) में एक सप्ताह में दो बच्चे चोरी होने का मामला सामने आया है। एक बच्चा 7 फरवरी को चोरी हुआ तो दूसरा मंगलवार शाम मगर अभी तक दोनों का कुछ पता नहीं है। और ना ही पुलिस किसी के बारे में कुछ पता लगा सकी है। सिविल अस्पताल लुधियाना से मंगलवार को दो दिन की बच्ची चोरी हो गई। एक महिला बच्ची और उसकी मां के आस पास घूमती रही और बच्ची को खिलाने के बहाने फरार हो गई। घटना से अस्पताल में अफरातफरी मच गई।

महिला ले गई बच्चा
बच्ची चोरी की खबर मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी और थाना डिविजन दो की पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक की। जिसमें एक महिला बच्चे को लेकर जा रही है, लेकिन लाल रंग की शॉल से महिला का मुंह ढका था। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

बच्चा उठाने के लिए मंडरा रही थी
ढंढारी कलां की रहने वाली सरवावति को उसके पति उमेश ने शनिवार की रात सिविल अस्पताल में दाखिल कराया था। रविवार की सुबह उसने एक बेटी को जन्म दिया। सोमवार को वह अस्पताल में ही थी। देर शाम को एक महिला सरवावति के आसपास घूमने लगी। सरवावति ने उससे आसपास घूमने का कारण भी पूछा तो महिला ने कहा कि उसका मरीज दूसरे हॉल में है। कुछ समय बातें करने के बाद महिला बच्ची को खिलाने लगी। देर रात महिला वहीं सो गई। मंगलवार की सुबह जब सरवावति उठी तो महिला कुछ समय बाद फिर आ गई।

बच्चा खिलाने के बहाने उड़ा लिया
इसी दौरान सरवावति और उसकी बेटी का चेकअप करने के बाद डाक्टरों ने उसे घर जाने के लिए बोल दिया। वह अपना सामान बांध रही थी कि महिला बच्ची को खिलाने लगी और खिलाते हुए बाहर ले गई। पहले तो सरवावति ने उसे बच्ची को वहां बेड पर छोडऩे को कहा। बच्ची को खिलाने का बहाना बना महिला ले गई। सरवावति ने सोचा कि महिला अभी आ जाएगी। आधा घंटा बीतने के बाद भी जब महिला नहीं लौटी तो उसने स्टाफ को बताया।सिविल अस्पताल के एसएमओ डाक्टर अविनाश जिंदल ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से पता चला कि एक महिला बच्ची को ले जा रही है, उसका मुंह शाल से ढका हुआ है। इससे महिला का चेहरा साफ नजर नहीं आ रहा। जांच की जा रही है कि इस मामले में किसकी लापरवाही है। जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

कर्मचारियों की मिलीभगत की जांच
एसीपी सेंट्रल वरियाम सिंह ने बताया कि थाना डिवीजन नंबर दो में मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि महिला बिना बात के अस्पताल के वार्ड तक कैसे पहुंची और वहां कैसे सोई। मामले में अस्पताल के कर्मचारी शामिल हुए तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned