वनरक्षक को जानवर समझकर शिकारी ने छोड़ा तीर, फिर हो गया फरार, मचा हड़कंप

अनुमान लगाया जा रहा है कि शिकारी ने वनरक्षक को जानवर समझकर तीर छोड़ा होगा

पिथौरा. बारनवापारा अभ्यारण के अंतर्गतगस्त देवगांव में एक वनरक्षक पर तीर कमान से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। बताया जा रहा है कि अज्ञात शिकारी ने वनरक्षक पर हमला किया। घटना के दौरान वनरक्षक के साथ चौकीदार भी था। प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिथौरा लाया गया। वहीं, हमलावर वनरक्षक पर तीर चला कर घटनास्थल से फरार हो गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि शिकारी ने वनरक्षक को जानवर समझकर तीर छोड़ा होगा। हालांकि अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है।

 

CG News

मिली अनुसार घटना दोपहर की बताई जा रही है। बारनवापारा अभ्यारण क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले देवगांव के पास कक्ष क्रमांक 123 में घटना उस समय घटित हुई जब वनरक्षक यगेश्वर प्रसाद सोनवानी एवं रामजी चौहान चौकीदार जंगल गश्त कर रहे थे। इसी दरमियान शिकार की नियत से छुपकर कर खड़े अज्ञात ग्रामीण शिकारी ने तीर चला दिया जिससे यगेश्वर प्रसाद सोनवानी की पसली में तीर जा धंसा। इसके पश्चात चौकीदार रामजी चौहान भागते हुए धनुषधारी का कुछ दूर पीछा किया।

फिर वह लौटकर घायल पड़े वनरक्षक के पास आकर उसे दिलासा देकर वहां से सूचना देने चला गया। सूचना के पश्चात बारनवापारा से जिप्सी लाई गई और घटनास्थल से घायल सोनवानी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिथौरा लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद तीर लगी हालत में ही रायपुर रेफर कर दिया गया है।

रायपुर किया गया रेफर
डॉक्टरों का कहना है कि तीर को पसली से निकलते ही खून का बहाव बढ़ जाएगा इसलिए तीर निकालना उचित नहीं है अत: तीर लगी हालत में ही वनरक्षक को रायपुर रेफर कर दिया गया है। लगभग 4 इंच शरीर के भीतर तीर घुसा हुआ है परिक्षेत्र सहायक सालिक राम डड़सेना ने बताया कि उक्त घटना की जानकारी राजा देवरी पुलिस चौकी एवं वन विभाग के आला अधिकारियों को दे दी गई है। डीएफओ बलोदा बाजार एवं एसडीओ भी रायपुर के लिए रवाना हो चुके हैं।

Show More
चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned