राष्ट्रीय स्तर पर लांच हुई केंद्रीय गृह मंत्रालय की महत्वाकांक्षी SPC योजना, जानें इससे जुड़ी सारी बातें

राष्ट्रीय स्तर पर लांच हुई केंद्रीय गृह मंत्रालय की महत्वाकांक्षी SPC योजना, जानें इससे जुड़ी सारी बातें

Akanksha Agrawal | Updated: 11 Jul 2019, 09:00:00 PM (IST) Mahasamund, Mahasamund, Chhattisgarh, India

केंद्रीय गृह मंत्रालय (Central home ministry) की महत्वकांक्षी योजना स्टूडेंट पुलिस कैडेट SPC कार्यक्रम को राष्ट्रीय स्तर पर लांच किया गया है।

महासमुंद. भारत सरकार (Indian government) केंद्रीय गृह मंत्रालय (Central home ministry) की महत्वकांक्षी योजना स्टूडेंट पुलिस कैडेट SPC कार्यक्रम को राष्ट्रीय स्तर पर लांच किया गया है। एसपीसी कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य माध्यमिक उच्चतर विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों को जिम्मेदार नागरिक बनाना एवं उनके अंदर कानून के प्रति सम्मान व नागरिक संवेदनाएं पैदा करना है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) राज्य में स्टूडेंट पुलिस कैडेट कार्यक्रम की निगरानी नियंत्रण के लिए जिला दंडाधिकारी की अध्यक्षता में 4 सदस्यीय जिला स्तरीय संचालन समिति गठित है। इसमें जिला पुलिस अधीक्षक, जिला शिक्षा अधिकारी सदस्य हैं। कार्यक्रम के सफलता पूर्वक संचालन के लिए पुलिस, शिक्षा, परिवहन, परियोजना एवं खेल विभाग के अधिकारियों को नोडल अधिकारी के रूप में नामांकित किया गया है।

जिला महासमुंद में स्टूडेंट पुलिस (Police) कैडेट कार्यक्रम के संचालन के लिए जिले के 8 विद्यालय का चयन किया है। इनमें केंद्रीय विद्यालय महासमुंद, शासकीय बालक उच्चत्तर माध्यमिक शाला तेन्दूकोना, शासकीय बालिका उच्चत्तर माध्य. शाला तेन्दूकोना, आरके बालक उच्चत्तर माध्य. शाला पिथौरा, बालिका माध्यमिक शाला पिथौरा, बालक माध्यमिक शाला बसना, बालिका उच्चत्तर माध्य. शाला बसना, नवोदय विद्यालय छिंदपाली सरायपाली शामिल है। विगत शैक्षणिक सत्र में उपरोक्त विद्यालयों से कक्षा 8वीं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं का चयन किया गया। नए शैक्षणिक सत्र के लिए फिर से चयन किया गया।

एक बैच का दो वर्ष कार्यकाल
कक्षा 8वीं के SPC चयनित छात्र-छात्राएं जूनियर कैडेट एवं 9वीं एसपीसी छात्र-छात्राएं सीनियर कैडेट्स के रूप में जाने जाएंगे। प्रतिवर्ष कक्षा 8वीं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं में 44 कैडेट का एक बैच तैयार किया जाएगा। क्योंकि एक बैच 2 वर्ष के बाद कार्यक्रम से बाहर हो जाएगा। इन कैडेट्स को इनडोर, आउटडोर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इंडोर प्रशिक्षण के अंतर्गत प्रतिमाह दो पिरियड का प्रशिक्षण स्कूल के शिक्षक द्वारा बीपीआर एंड डी द्वारा तैयार किए गए पाठयक्रम के अनुसार दिया जा रहा है। आउटडोर प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत कैडेट्स को परेड, शारीरिक गतिविधि पीटी, कैम्प आदि का प्रशिक्षण सप्ताह में एक बार आधे दिन का दिया जा रहा है।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned