मतदाताओं को जागरूक करने सोशल मीडिया का सहारा

मतदाताओं को जागरूक करने सोशल मीडिया का सहारा

Deepak Sahu | Publish: Sep, 08 2018 11:53:40 AM (IST) Mahasamund, Chhattisgarh, India

फेसबुक अकांउट बनाकर लोगों को दे निर्वाचन की जानकारी

महासमुंद. सोशल मीडिया के जरिए अब मतदाताओं को निर्वाचन संबंधी जानकारी देने के अलावा उन्हें जागरूक भी किया जा रहा है। फेसबुक पर पेज बनाकर लोगों को मतदान प्रक्रिया की जानकारी दी जा रही है। जानकारी के मुताबिक फेसबुक के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को निर्वाचन प्रक्रिया से जोडऩे के उद्देश्य से सोशल पेज का निर्माण किया गया है।

मतदाता जागरुकता अभियान की कड़ी में विधानसभा चुनाव के लिए इस तरह की सार्थक पहल की गई है। इसमें पेंटिंग, स्केच, फोटोग्राफ और स्लोगन राइटिंग जैसी प्रतियोगिताएं भी रखी गई हैं। एनआईसी प्रभारी आनंद सोनी ने बताया कि फेसबुक के माध्यम से निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इस वर्ष तीन वर्गों में स्पर्धा रखी गई है। प्रतियोगिता में जो भी प्रतिभागी अपने फेसबुक पेज में निर्धारित सीमा तक लाइक्स प्राप्त करता है, तो उसे प्रमाण-पत्र के साथ 500 रुपए से लेकर 50,000 रुपए तक पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

स्पर्धा में सात विषय में ले सकते हैं भाग
प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सात विषय रखे गए हैं, जिनमें एथिकल वोटिंग, मतदाता जागरुकता, मेरा वोट-मेरा अधिकार, सुगम निर्वाचन, मतदान क्यों महत्वपूर्ण है, कोई मतदाता न छूटे, मतदान-लोकतंत्र की सुदृढ़ीकरण के लिए जैसे महत्वपूर्ण विषय निर्धारित किए गए हैं, जो पेंटिग, रेखाचित्र, फोटोग्राफी और स्लोगन पर आधारित है। इसमें भाग लेने के लिए उपरोक्त विषय से किसी एक पर प्रतिभागी को अपने फेसबुक अकाउंट्स से पोस्ट करना होगा।

ऑनलाइन मतदाता सूची में नाम जुड़वाने परेशानी
मतदाता कार्ड बनाने के लिए ऑनलाइन भी फार्म लिए जा रहे हैं, लेकिन जो आवेदक ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं, उन्हें मतदाता सूची में नाम जोडऩे के लिए परेशानी हो रही है। मजबूरन उन्हें ऑफलाइन ही नाम जुड़वाना पड़ रहा है। इधर, तहसील कार्यालय में पहले ऑफलाइन फार्म लिए जा रहे हैं, उसके बाद उनके फार्म ऑनलाइन भरे जा रहे हैं। गौरतलब है कि सात सितंबर तक मतदाता सूची में नाम जुड़वा सकते हैं या कार्ड में त्रुटियों को सुधार सकते हैं।

पहले 21 अगस्त अंतिम तिथि थी, जिसके बाद इसे बढ़ाकर 31 अगस्त किया गया था, जिसकी तिथि फिर से बढ़ाई गई थी। शुक्रवार तक ही आवेदन लिए गए। गौरतलब है कि इस वर्ष ऑनलाइन आवेदन की भी सुविधा थी। मतदाता सूची में ऑनलाइन आवेदन करने वालों को निराश हाथ लग रही है। पहली बार इस बार ऑनलाइन आवेदन लिए गए हैं। ऑनलाइन आवेदन करने में सर्वर की भी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। फार्म अपलोड नहीं होने से लोगों को ऑफ लाइन जाकर भरना पड़ रहा है।

महासमुंद, एनआईसी प्रभारी के आनंद सोनी ने बताया निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी एवं मतदाताओं में जागरुकता लाने के लिए इस बार फेसबुक में अकाउंट बनाया गया है।

Ad Block is Banned